नई दिल्ली, जेएनएन। काफी समय से पाकिस्तान को भारत के साथ सीरीज ना खेलने की सलाह देने वाले पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर जावेद मियादाद की सोच शायद अब बदल गई है। मियादाद ने भारत पाक की सीरीज की वकालत करते हुए कहा कि दोनों देशों को बाइलेटरल सीरीज खेलने की कोशिश करनी चाहिए. पाकिस्तानी पूर्व बल्लेबाज ने कहा कि बीसीसीआई और पीसीबी को पुरानी खटास को पुरानी खटास मिटाते हुए एक बार फिर सीरीज की कोशिश करनी चाहिए।

 मियादाद से जब वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के बारे में उनकी राय पूछी गई तो उन्होंने कहा कि भारत पाकिस्तान के बीच सीरीज से बड़ी सीरीज वर्ल्ड क्रिकेट में नहीं हो सकती। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच होने वाली एशेज सीरीज भी इस सीरीज के आगे छोटी नजर आती है। इस महान बल्लेबाज ने कहा कि दोनों देशों के बीच हालात कुछ भी हो लेकिन हमें क्रिकेट खेलना शुरू कर देना चाहिए। हो सकता है कि क्रिकेट की वजह से दोनों देशों के सियासी मुद्दे सुलझने में मदद हो जाए। 

पाकिस्तान के इस महान बल्लेबाज ने कहा कि अगर भारत और पाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफी, वर्ल्डकप या एशिया कप जैसे आइसीसी टूर्नामेंट में एक साथ खेल सकते है तो फिर बाइलेटरल सीरीज में क्यों नहीं। भारत और पाकिस्तान के बीच आखिरी बाइलेटरल सीरीज साल 2008 में हुई थी। बीसीसीआई और पीसीबी के बीच भी कानूनी लड़ाई भी चल रही है। पीसीबी बीसीसीआई पर लगातार दबाव बना रहा है कि वह भारत के साथ सीरीज खेले क्योंकि दोनों के बीच पहले से ही अनुबंध तय है।

मियादाद पिछले कुछ समय से लगातार कह रहे थे कि पाकिस्तान को भारत के साथ सीरीज खेलने को लेकर हाथ फैलाने की जरुरत नहीं है और ना ही पीसीबी को बीसीसीआई से बाइलेटरल सीरीज की भीख मांगनी चाहिए।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Lakshya Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप