नई दिल्ली, जेएनएन। इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीराीज का पहला मैच साउथैम्पटन में खेला जा रहा है। कोरोना संक्रमण फैलने के बाद क्रिकेट पर लगे ब्रेक के बाद यह पहला इंटरनेशनल मैच है। इंग्लैंड ने इस मैच के लिए दिग्गज तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड को प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं दी। इस बात के वह काफी नाराज है और गुस्से में भी। ब्रॉड को टीम से बाहर रखे जाने पर मैच खेल रहे जोफ्रा आर्चर ने भी हैरानी जताई थी।

8 जुलाई से इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच एजेस बाउल में सीरीज का पहला टेस्ट मैच शुरू हुआ। इस मैच के लिए ब्रॉड को इंग्लैंड की प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं दी गई। साल 2012 के बाद यह पहला मौका है जब किसी घरेलू टेस्ट मैच में वह प्लेइंग इलेवन से बाहर हुए हैं।

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने शुक्रवार को कहा कि साउथैंप्टन टेस्ट नहीं खेलने की वजह से वह निराश, गुस्से में और झुंझलाए हुए हैं। इंग्लैंड की टीम ने जेम्स एंडरसन, मार्क वुड और जोफ्रा आर्चर, मार्क वुड के टीम में खिलाया गया।

ब्रॉड ने कहा कि मुझे मैच से एक दिन पहले शाम को छह बजे पत चला कि मैं टीम में नहीं हूं। वह इस मैच में अधिक गति वाले गेंदबाजों के खिलाना चाहते थे। मैं झुंझलाया हुआ हूं, गुस्सा और निराश हूं क्योंकि यह फैसला समझना मुश्किल है। पिछले कुछ वर्षो में मैंने शानदार गेंदबाजी की है।

टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज की पकड़ मजबूत

साउथैप्टन में खेले जा रहे मैच का पहला दिन बारिश की वजह से महज 17.4 ओवर ही खेला जा सका। दूसरे दिन वेस्टइंडीज के गेंदबाजों ने शानदार खेल दिखाते हुए मेजबान टीम को 204 रन पर समेट दिया। जवाब में वेस्टइंडीज ने पहली पारी में 318 रन बनाए और 114 रन की बढ़त हासिल की। तीसरे दिन का खेल खत्म होने के समय इंग्लैंड ने बिना किसी नुकसान के 15 रन बनाए थे और वेस्टइंडीज के पास 99 रन की बढ़त हासिल थी।  

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस