जोहानसबर्ग, पीटीआइ। भारतीय क्रिकेट टीम के कोच भरत अरुण ने कहा है कि स्पिनर आर. अश्विन और रवींद्र जडेजा के लिए भारतीय वनडे टीम का दरवाजा बंद नहीं हुआ है और वो वर्ष 2019 में होने वाले विश्व कप में खेल सकते हैं। इस वक्त कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल वनडे में जैसा प्रदर्शन कर रहे हैं इसके बाद यही कयास लगाए जा रहे हैं कि फिलहाल तो अश्विन और जडेजा की वनडे टीम में वापसी जरा मुश्किल है। 

अरुण ने भारतीय स्पिनर्स चहल और कुलदीप के बारे में कहा कि दोनों काफी सकारात्मक सोच के गेंदबाज हैं। वो गेंद को फ्लाइट कराने से नहीं डरते। वो दोनों पिच या विकेट पर निर्भर नहीं हैं। वो दोनों हवा में ही गेंद को स्पिन करा लेते हैं और उनके पास इतनी काबिलियत है कि वो बल्लेबाज को बीट करा सकें। इन दोनों गेंदबाजों के पास काफी क्षमता है साथ ही दोनों बेहद टैलेंटेड भी हैं। ये दोनों विरोधी टीम के बेस्ट बल्लेबाजों को आउट कर रहे हैं। कुलदीप व चहल श्रीलंका के खिलाफ वनडे में पहली बार खेलने उतरे थे। उसके बाद से अब तक 17 वनडे मैचों में दोनों ने मिलकर 32 विकेट लिए हैं। हालांकि अरुण ने कहा कि विश्व कप के लिए जगह अभी भी खाली है। 

अरुण ने कहा कि हमारे पर गेंदबाजों की खासी तादात है और हम चाहते हैं कि गेंदबाजों को रोटेट किया जाए जिससे कि वो हर प्रारूप में फ्रेश रह सकें। कुलदीप व चहल ने इस सीरीज में काफी प्रदिबद्धता दिखाई है। इस कंडीशन में रिस्ट स्पिनर्स फिंगर स्पिनर्स के मुकाबले ज्यादा सफल होते। हम विश्व कप से पहले सभी टैलेंटेड खिलाड़ियों को आजमाना चाहते हैं और फिर विश्व कप के लिए खिलाड़ी तय करेंगे। अश्विन और जडेजा इस रेस से बाहर नहीं हैं वो अब भी टीम में हैं। 

पिंक वनडे के बारे में उन्होंने कहा कि ये हमारे लिए भी एक बड़ा मौका है और हम इस दिन बेस्ट क्रिकेट खेलने की कोशिश करेंगे और फैंस का मनोरंजन करने की पूरी कोशिश करेंगे। टेस्ट में भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन पर उन्होंने कहा कि ये हमारे लिए काफी अच्छा रहा और भारतीय गेंदबाजों ने 60 विकेट लिए। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

By Sanjay Savern