नई दिल्ली, पीटीआइ। भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने कहा है कि कोरोना वायरस की वजह से किए गए लॉकडाउन के कारण कोई गतिविधि नहीं करने की वजह से उनकी बॉडी जॉम्बी मोड में चली गई है। दिनेश कार्तिक ने कहा है कि शरीर को मैच के लिए फिट बनाने के लिए करीब एक महीने का समय लगेगा। उन्होंने कहा है कि मैच फिटनेस हासिल करने के लिए कम से कम चार सप्ताह का समय लगेगा।

दाएं हाथ के विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने कहा है कि क्रिकेटरों को ट्रेनिंग फिर से शुरू करने के बाद धीरे-धीरे तीव्रता बढ़ानी होगी। ईएसपीएन क्रिकइंफो से बात करते हुए कार्तिक ने कहा है, "मुझे लगता है कि परिवर्तन बहुत कठिन होगा। मुझे लगता है कि कम से कम चार सप्ताह, आपको धीरे-धीरे शुरू करने की आवश्यकता है, पहले यह गुणवत्ता होगी और फिर धीरे-धीरे मात्रा और फिर तीव्रता बढ़ जाएगी।"

उन्होंने कहा है, "अभी चेन्नई में लॉकडाउन में बहुत कमी आई है, इसलिए आप अनुमति प्राप्त कर सकते हैं और जा सकते हैं और अभ्यास कर सकते हैं, इसलिए मैं ऐसा करने की योजना बना रहा हूं, लेकिन मैं इसे धीरे-धीरे करूंगा ... शरीर पूरी तरह से जॉम्बी मोड में आ गया है, मैं घर पर बैठा हूं और ज्यादा कुछ नहीं कर पा रहा हूं।" यह दो महीने से ज्यादा का समय हो गया है कि वायरस को रोकने के लिए भारतीय क्रिकेटरों को लॉकडाउन में घर में रहना पड़ा है।

सरकार ने लॉकडाउन 5 के दौरान कुछ चीजों से पाबंदी हटा दी है और खेल गतिविधियों की शुरू करने की इजाजत दे दी है, लेकिन अभी सरकार ने खेलों की शुरुआत नहीं करने के लिए कहा है। यहां तक कि ट्रेनिंग के दौरान दर्शकों को स्टेडियम में आने की अनुमति नहीं दी गई है। कई खिलाड़ियों ने ट्रेनिंग शुरू कर दी है, लेकिन उन्हीं खिलाड़ियों ने ट्रेनिंग शुरू की है, जहां पर किसी भी तरह का कोई खतरा नहीं है।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस