चेन्नई, प्रेट्र। त्रिकोणीय सीरीज के फाइनल में बांग्लादेश के खिलाफ यादगार पारी खेलने के बाद भारतीय बल्लेबाज दिनेश कार्तिक चर्चा का विषय बन गए हैं। अब उनकी तुलना पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी से की जा रही है। बांग्लादेश से लौटे कार्तिक से जब उनकी और धौनी की तुलना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं अभी उस यूनिवर्सिटी में पढ़ रहा हूं जहां वह (धौनी) टॉपर रहे हैं। वह उन लोगों में से हैं जिन्हें मैंने हमेशा खेलते देखा है। मेरी उनके साथ तुलना करना सही बात नहीं है। मैं जहां हूं, वहां खुश हूं।

मालूम हो कि धौनी के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने के तीन महीने पहले कार्तिक ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मुकाबला इंग्लैंड में सितंबर 2004 के चैंपियंस ट्रॉफी में खेला था। अगले 14 वर्षो में धौनी भारत के सबसे सफल कप्तान बन गए जबकि कार्तिक टीम से अंदर-बाहर होते रहे और मौके का इंतजार करते रहे। अपने अब तक के सफर के बारे में कार्तिक ने कहा कि उनका (धौनी) और मेरा सफर बिलकुल अलग रहा है। वह एक बेहतरीन इंसान हैं। वह ऐसे इंसान हैं जो सबसे शर्मीले हैं और खुद में मगन रहते हैं। आज वह एक ऐसे इंसान हैं जो युवाओं की मदद से तैयार रहते हैं।

अच्छे कर्मो का मिला फल 

अचानक सुर्खियों में आने के सवाल पर कार्तिक ने कहा कि मैं सबके आकर्षण में हूं, यह अच्छा लगता है। वर्षो से जो मैंने कर्म और अच्छे काम किए यह उसी का नतीजा था कि मैं आखिरी गेंद पर छक्का लगा पाया। यह बस छक्का चला गया। संभवत: वह गेंद सीमा रेखा के दो माइक्रो मीटर ही आगे गिरी। उस यादगार लम्हे को याद करते हुए कार्तिक कहते हैं कि उन पलों को शब्दों में बयां कर पाना मुश्किल है। मैं इस खेल से काफी खुश हूं। अचानक इतने आकर्षण से काफी खुशी मिलती है लेकिन आप ऐसी खास शुरुआत की उम्मीद करते हैं।

अभिषेक नायर को दिया श्रेय 

कार्तिक ने मुंबई के क्रिकेटर अभिषेक नायर को भी अपनी सफलता श्रेय दिया है। कार्तिक ने कहा कि वह (अभिषेक) पिछले ढाई वर्षो में मेरे करियर का सबसे अहम हिस्सा रहे हैं। उन्होंने रणनीति बनाने में मेरी मदद की। उन्हें यह भी पता है कि कठिन परिश्रम करने का सही तरीका क्या है। वह मेरे जीवन में नदी की तरह रहे हैं और मैं नाव की तरह।

विजय शंकर का किया बचाव 

बांग्लादेश के खिलाफ फाइनल में धीमी बल्लेबाजी करने वाले ऑलराउंडर विजय शंकर का कार्तिक ने बचाव करते हुए कहा कि उनके पास कौशल है। उन्होंने एक गेंदबाज के तौर पर बहुत अच्छा काम किया है। एक बल्लेबाज ऑलराउंडर की हैसियत से भी उन्होंने दबाव की स्थिति में अच्छा काम किया। मुझे उनका एक अच्छा भविष्य नजर आ रहा है। उनके पास अच्छा मनोभाव है। उनके पास खास प्रतिभा है और उनमें लंबे समय तक खेलने की काबिलियत है।

रोहित की कप्तानी के पढ़े कसीदे 

कार्तिक ने त्रिकोणीय सीरीज में भारत की कप्तान करने वाले रोहित शर्मा की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि रोहित की सबसे बड़ी ताकत यह है कि उन्होंने बतौर कप्तान आइपीएल में तीन खिताब जीते हैं। उन्हें अपनी कप्तानी क्षमता पर अत्यधिक भरोसा है। वह काफी तैयारी करते हैं। रणनीतिक तौर पर वह काफी मजबूत हैं।

आइपीएल है बहुत अहम 

आइपीएल में कार्तिक को कोलकाता नाइटराइडर्स का कप्तान बनाया गया है। इस जिम्मेदारी को लेकर कार्तिक ने कहा कि आइपीएल बहुत अहम है। एक बेहतरीन टूर्नामेंट है। भारतीय क्रिकेट आइपीएल की वजह से आज यहां है। हमें यहां सर्वश्रेष्ठ के साथ मुकाबला करने को मिलता है। साथ ही कार्तिक ने आइपीएल में वापसी कर रही चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स की तारीफ करते हुए कहा कि इनके आने से खेल में अलग तरह की गति आएगी।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Edited By: Ravindra Pratap Sing