नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय टेस्ट टीम के ओपनर बल्लेबाज पिछले कुछ वक्त से अपनी फॉर्म से जूझ रहे हैं। इंग्लैंड के खिलाफ उनके खराब प्रदर्शन की वजह से उन्हें टीम से बाहर जाना पड़ा। इंग्लैंड दौरे पर टीम से बाहर होने के बाद उन्होंने वहां पर काउंटी क्रिकेट खेला और कमाल का प्रदर्शन किया। उन्होंने अपनी काउंटी टीम एसेस्क के लिए खेलते हुए तीन फर्स्ट क्लास मैचों में 56,100,85,80,02 रन की पारी खेली। एक बार फिर से मुरली विजय को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर होने वाले टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया है। 

मुरली विजय ने भारतीय टीम में वापसी को लेकर कहा कि मैंने टीम में अपनी वापसी को लेकर काउंटी मैच नहीं खेले। मैंने ऐसा महसूस किया कि मुझे कुछ रन बनाने की जरूरत है साथ ही कुछ अच्छा क्रिकेट खेलने की जरूरत है। मैंने काउंटी में अच्छा प्रदर्शन किया और इसकी वजह से मुझे टीम में वापसी का अतिरिक्त फायदा मिला। वर्ष 2014-15 में भारतीय टीम जब ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई थी तब मुरली विजय ने अच्छी बल्लेबाजी की थी और चार मैचों में 482 रन बनाए थे। विजय ने उम्मीद जताई कि उनका ये दौरा भी सफल होगा। 

ऑस्ट्रेलिया दौरे को लेकर विजय ने कहा कि इस बार हम अच्छी रणनीति के साथ मैदान पर उतरेंगे। पहले टेस्ट मैच से पहले हमें एक प्रैक्टिस मैच भी खेलना है। ये हमारे लिए काफी अच्छा रहेगा और मुझे आशा है कि टीम के अन्य खिलाड़ियों के लिए भी ये काफी फायदेमंद रहेगा। पिछले दौरे पर नाथन लियोन ने मुरली विजय को ओपनिंग टेस्ट में 99 रन पर आउट कर दिया था। लियोन के बारे में विजय ने कहा कि उनका सामना करना हमेशा ही चुनौतीपूर्ण रहा है। लियोन जैसे गेंदबाजों के खिलाफ आक्रामक बल्लेबाजी करना ज्यादा अच्छा होता है क्योंकि अगर वो अपनी लय में आ गए तो मुश्किल हो सकती है। पिछले दौरे पर हम दोनों के बीच अच्छी प्रतियोगिता देखने को मिली थी और एक बार फिर से मुझे उनसे चुनौती मिलेगी। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sanjay Savern