नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। भारतीय क्रिकेट टीम के चैंपियन गेंदबाज दीपक चाहर ने श्रीलंका के खिलाफ बल्लेबाजी से मैच का पासा पलट दिया। टी20 में भारत की तरफ से पहली हैट्रिक लेने का कमाल करने वाले इस खिलाड़ी के नाम इस फॉर्मेट का सबसे बेहतरीन गेंदबाजी का विश्व रिकॉर्ड दर्ज है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर और टीम इंडिया के कोच पद से हटाए गए ग्रैग चैपल ने दीपक चाहर का करियर खत्म करना चाहा था। इस बेहतरीन गेंदबाज को उन्होंने ना सिर्फ टीम में रखने से मना कर दिया था बल्कि यह भी कहा था कि कोई और काम तलाश लें।

श्रीलंका के खिलाफ भारतीय टीम ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में मंगलवार को 2-0 की अजेय बढ़त हासिल की। लगातार दो मैच जीतने के साथ ही सीरीज पर भारत का कब्जा हो गया है। इस मैच में श्रीलंका ने भारत के सामने 9 विकेट पर 275 रन बनाए थे। जवाब में भारतीय टीम ने 49.1 ओवर में 7 विकेट गंवाकर लक्ष्य हासिल किया। दीपक ने नाबाद 69 रन की पारी खेलते हुए टीम के हार के जीत तक पहुंचाया। टीम ने 194 रन पर 7 विकेट गंवा दिए थे और इसके बाद उन्होंने भुवनेश्वर कुमार के साथ मिलकर 84 रन की अटूट साझेदारी निभाई।

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट कर इस बात का खुलासा किया है कि चाहर का करियर चैपल बर्बाद करना चाहते थे। जब साल 2008 में राजस्थान क्रिकेट टीम के लिए चाहर खेलने चाहते थे तो ट्रायल में उनको चैपल ने लंबाई की वजह से छांट दिया था। चैपल ने टॉप 50 की लिस्ट में भी जगह नहीं दी थी। प्रसाद ने यहां तक लिखा है कि कैसे इस युवा खिलाड़ी को मनोबल तोड़ते हुए चैपल ने उनको क्रिकेट छोड़कर किसी और चीज को पेशा बनाने का सलाह दी थी।

दीपक चाहर के नाम वर्ल्ड रिकॉर्ड

आपको बता दें कि भारत की तरफ से टी20 में पहली हैट्रिक दीपक के नाम पर ही दर्ज है। उन्होंने 18 साल की उम्र में अपने पहले रणजी ट्रॉफी मैच में एक पारी में 10 रन देकर 8 विकेट चटकाए थे। बांग्लादेश के खिलाफ नागपुर टी20 में दीपक ने महज 7 रन देकर 6 विकेट हासिल किए थे। यह टी20 क्रिकेट में किसी भी गेंदबाज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है यानी वर्ल्ड रिकॉर्ड।