नई दिल्ली, आईएएनएस। पूर्व भारतीय ओपनर और बीजेपी के सांसद गौतम गंभीर ने कोरोना वायरस के संक्रमण के लग रही सरकार को अपनी तरफ से और मदद देने की घोषणा की है। गंभीर ने गुरुवार को इस बात की शपथ ली कि वो अपनी अगले दो साल की सैलरी नहीं उठाएंगे और इसे Prime Minister's Citizen Assistance and Relief in Emergency Situations Fund (PM CARES Fund) में दान देंगे।

भारत इस वक्त कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या पर नियंत्रण लगाने के लिए संघर्ष कर रहा है। भारत में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या दो हजार के करीब पहुंच चुकी है। सरकार ने पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित कर रहा है। इस मुश्किल वक्त में भारत के तमाम सेलिब्रिटी अपनी तरफ से मदद का राशि दान कर रहे हैं।

गंभीर ने ट्विटर पर इस बात की घोषणा करते हुए लिखा, "लोग अक्सर ही सवाल करते हैं कि देश उनके लिए क्या कर सकता है। जबकि असली सवाल यह है कि आप अपने देश के लिए क्या कर सकते हैं। मैं अपने दो साल की सैलरी प्रधानमंत्री केयर फंड में दान कर रहा हूं। आपको भी आगे बढ़कर आना चाहिए।"

गौतम गंभीर ने पहले भी अपनी तरफ से कोरोना की जंग में मदद राशि दी है। दिल्ली सरकार को उन्होंने अपनी सांसद निधी से 50 लाख रुपये दिए थे। इसके बाद उन्होंने इएक करोड़ रुपये MP Local Area Development Scheme (MPLADS) के तहत कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए प्राइम मिनिस्टर रिलीफ फंड में जमा किए हैं। अब उन्होंने अपनी दो महीने की सैलरी को कोरोना से लड़ने के लिए नहीं लेने का फैसला लिया है।

कितनी होती है एक सांसद की सैलरी

एक सांसद की महीने की बेसिक सैलरी 1 लाख रुपये होती है जबकि उसे 45-45 लाख Constituency allowances + Parliament office allowance मिलता है। इसके अलावा Parliament session allowance हर दिन का 2000 रुपये मिलता है। इसका मतलब महीने में एक सांसद 1 लाख 90 हजार की फिक्स सैलरी उठाता है। इसके आलावा जितने संसद सत्र में वो भाग लेगा।

 

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस