नई दिल्ली, आईएएनएस। वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर कार्लोस ब्रेथवेट को 2016 के आईसीसी टी20 विश्व कप के फाइनल में लगातार चार छक्के लगातर टीम के विश्व चैंपियन बनाने के लिए याद किया जाता है। ब्रेथवेट ने इंग्लैंड के बेन स्टोक्स के आखिरी ओवर में लगातार छक्के लगातर ऐतिहासिक जीत दिलाई थी। रविवार को उन्होने बताया कि उनका जीवन का सबसे यादगार लम्हा यही रहने वाला है जब भारत में उनको क्रिस गेल जैसा सम्मान हासिल हुआ था।

भारत में क्रिकेट एक धर्म है। मुझे याद है मैंने एयरपोर्ट पर वो शूट किया था जब क्रिेस गेल के चारो तरफ भीड़ जमा हुई थी। आईसीसी विश्व कप के बाद जब मैं दिल्ली के डेयरडेविल्स (अब दिल्ली कैपिटल्स) के लिए खेलने पहुंचा तो वैसा ही कुछ मेरा साथ हो रहा था।

भारत में खेले गए 2016 के टी20 विश्व कप फाइनल में वेस्टइंडीज की टीम इंग्लैंड के खिलाफ 156 रन का पीछा कर रही थी। 11 रन पर उसके तीन विकेट गिर गए थे। मार्लन सैमुअल्स और ड्वेन ब्रावो ने मैच बचाउ जुझारू पारी खेलकर टीम को वापसी कराई थी।

6 गेंद पर वेस्टइंडीज को 19 रन की जरूरत थी और आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए कार्लोस ब्रेथबेट थे। इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स गेंदबाजी करने आए थे और लगातार चार गेंद पर ब्रेथवेट ने चार छक्के लगाकर वेस्टइंडीज को दूसरी बार विश्व चैंपियन बना दिया था।

ब्रेथवेट ने बताया कि भारत में बैंगलुरू पार्टी करने के लिए उनका पसंदीदा शहर है, कोलकाता हमेशा ही खास है और अपनी पत्नी के साथ मुंबई भी जाते हैं। उन्होंने कहा, मैंने दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से दो साल खेला, प्रदुषणा ने मुझे जकड लिया। जब मैं वहां था तो उनका ऑड और इवेन (कार नंबर) वाला नियम भी चल रहा था।

पिछले साल के आईपीएल की नीलामी में ब्रेथवेट को किसी टीम ने नहीं खरीदी। इसके बाद भी उनको उम्मीद है कि वो किसी और तरह से आईपीएल 2020 में खेल पाएं। उन्होंने कहा, उम्मीद करता हूं मैं आईपीएल में किसी तरह से खेल पाउंगा शायद किसी खिलाड़ी का रिप्लेसमेंट के तौर पर या तो फिर कमेंट्री में।  

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस