लंदन, पीटीआइ। इंग्लैंड टीम के ऑलराउंडर और वर्ल्ड कप जीत के हीरो बेन स्टोक्स ने लॉर्ड्स में खेले गए वर्ल्ड कप के फाइनल की एक सच्चाई दिल पर हाथ रखकर कबूल कर ली है। बेन स्टोक्स ने इस बात को स्वीकार किया है कि उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए वर्ल्ड कप 2019 के फाइनल के आखिरी ओवर में अंपायरों से ओवरथ्रो के 4 रन कम करने के लिए नहीं कहा था। 

14 जुलाई को लॉर्ड्स के मैदान पर खेले गए वर्ल्ड कप के 12वें सीजन के फाइनल मैच के आखिरी ओवर में ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर बेन स्टोक्स ने गेंद को मिडविकेट पर खेला जहां से मार्टिन गप्टिल ने थ्रो किया तो दूसरा रन लेने के दौरान थ्रो वाली गेंद बेन स्टोक्स के बल्ले से लगकर बाउंड्री के पार चली गई थी। इस तरह अंपायर ने 2 और 4 रन मिलाकर कुल 6 रन इंग्लैंड को दे दिए जो बेसकीमती साबित हुए।

एक इंटरव्यू में बेन स्टोक्स ने कहा है, "मैंने ये सब देखा। मैं खुद के बारे में सोच रहा था, क्या मुझे ऐसा कहना चाहिए? लेकिन, दिल पर हाथ रखकर मैं अंपायरों से ऐसा कुछ नहीं बोला और ना ही मैंने 4 रन कम करने के लिए अंपायर से बात की।" अगर इंग्लैंड को ये 4 एकस्ट्रा रन नहीं मिलते तो शायद आज नतीजा कुछ ओर होता।

फाइनल मैच में 84 रन बनाकर नाबाद लौटे इंग्लैंड के इस खिलाड़ी ने मैच को टाई कराया(बाद में सुपर ओवर भी टाई रहा और मैच बाउंड्री काउंट के आधार पर इंग्लैंड की टीम ने जीता) और उसी दौरान उन्होंने न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन और विकेटकीपर टॉम लाथम से माफी मांगी कि उन्होंने जानबूझकर ऐसा नहीं किया है।

बेन स्टोक्स ने बताया, "मैं सीधा टॉम लाथम के पास गया और कहा मेट, I'm sorry और फिर केन विलियमसन की तरफ देखा और कहा I'm sorry।" दरअसल, बेन स्टोक्स के इंग्लैंड टीम के ही टेस्ट टीम मेट जेम्स एंडरसन ने इस बात का दावा किया था कि बेन स्टोक्स ने अंपायरों से ओवरथ्रो के रन कम करने को कहा था। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Aus-vs-Ind

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021