नई दिल्ली, केकेआर। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना ने भारत ए और अंडर-19 कोच राहुल द्रविड़ के प्रयासों की सराहना की और उन्हें लगता है कि भारत के युवा खिलाडि़यों को जीवन कौशल प्रशिक्षण, सामाजिक व्यवहार और समस्या निवारण क्षमता के बारे में बताया जाना चाहिए।

द्रविड़ को बेंगलुरु में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के निदेशक का अतिरिक्त कार्यभार भी सौंपा गया। उन्होंने हाल में सुझाव दिया था कि प्रतिभाशाली युवा क्रिकेटरों को कुछ व्यावसायिक प्रशिक्षण भी दिया जाना चाहिए। खन्ना ने मसौदा प्रस्ताव तैयार किया है जिसमें उन्होंने पांच बिंदुओं पर जोर दिया जिनसे बीसीसीआइ क्षेत्रीय क्रिकेट अकादमियों से आने वाले अंडर-16 क्रिकेटरों की मदद कर सकता है। इस प्रस्ताव के प्रमुख बिंदुओं में अंग्रेजी बोलने का अभ्यास, संवाद कौशल, समस्या का निदान करने की क्षमता और सामाजिक व्यवहार शामिल हैं।

खन्ना ने कहा, 'पिछले काफी समय से यह प्रवृत्ति बढ़ी है कि कई युवा क्रिकेटरों ने अपने खेल पर ध्यान दिया है और अकादमी व जीवन के अन्य पहलुओं की अनदेखी कर रहे हैं। मेरा मानना है कि हमारे पास जो चीजें उपलब्ध है उससे हम कई युवा क्रिकेटरों की सामाजिक कौशल विकसित करने में मदद कर सकते हैं।' उन्होंने कहा, 'कई बार ऐसा होता है कि युवा आइपीएल में मिलने वाले पैसे से प्रभावित हो जाते हैं और लगभग अपना ध्यान खो देते हैं। कई बार उनका सामाजिक आचरण और सोशल मीडिया को संभालना खराब हो जाता है। यह हमारा कर्तव्य है कि जब वह टी-शर्ट पहनते हैं और उस पर बीसीसीआइ का लोगो लगा होता है तो उन्हें अपने कर्तव्य का ध्यान होना चाहिए। विनम्र होना, लोगों के साथ विनम्र व्यवहार करना, महिलाओं के साथ सम्मानपूर्वक व्यवहार करना जो वास्तव में अच्छे व्यवहार के रूप में गिना जाता है।'

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप