मुंबई, एजेंसी। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) मंगलवार को अपनी पहली बैठक करेगी। इस बैठक में भारतीय क्रिकेट टीम के दो राष्ट्रीय चयनकर्ताओं के चयन की प्रक्रिया शुरू होगी। टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद का कार्यकाल खत्म हो चुका है जिनके चयन पर तीन सदस्यीय सीएसी टीम को फैसला लेना है।

बीसीसीआई के संविधान के अनुसार चयनकर्ताओं के चयन की जिम्मेदारी तीन सदस्यीय सीएसी की है। लेकिन 31 जनवरी को नियुक्ति के बाद से इस समिति ने कोई बैठक नहीं की। पूर्व भारतीय क्रिकेटरों मदन लाल, आरपी सिंह और सुलक्षणा नाईक की समिति निजी साक्षात्कार के लिए उम्मीदवारों की छंटनी करेगी।

मदन लाल ने सोमवार को पुष्टि की कि वह बैठक के लिए मुंबई जा रहे हैं। उन्होंने कहा, "हां, मैं बैठक के लिए जा रहा हूं लेकिन मेरे पास अब तक कोई विस्तृत जानकारी नहीं है। बीसीसीआई के एक सूत्र ने हालांकि पुष्टि की कि बैठक का आयोजन उम्मीदवारों की छंटनी के लिए किया जा रहा है।"

चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद और उनके साथी सदस्य गगन खोडा का कार्यकाल खत्म हो चुका है और समिति इन्हीं के विकल्पों का चयन करेगी। कोरोना वायरस के खतरे के कारण एशियाई क्रिकेट परिषषद (एसीसी) की बैठक के लिए दुबई नहीं जाने वाले बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के मंगलवार को बीसीसीआई मुख्यालय में मौजूदा रहने की संभावना है। 

पूर्व ऑलराउंडर अगरकर रेस में आगे

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर अजीत अगरकर का नाम मुख्य चयनकर्ता की रेस में सबसे आगे चल रहा है। अगरकर मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के मुख्य चयनकर्ता की भूमिका निभा चुके हैं। उनके अनुभव को देखते हुए और बीसीसीआई अध्यक्ष के बयान के बाद उनकी नियुक्ति तय मानी जा रही है। गांगुली ने कुछ दिन पहले ही कहा था जिसके पास भी भारत की तरफ से सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने का अनुभव होगा उनको तरजीह दी जाएगी। 

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस