बेंगलुरु। मौजूदा टेस्ट सीरीज के दोनों टेस्ट मैचों में अर्धशतक जमाने वाले इकलौते भारतीय बल्लेबाज केएल राहुल ने पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद कहा कि टीम इंडिया मैच में अब भी वापसी कर सकती है। उन्होंने कहा कि बल्लेबाज साझेदारी बनाएं और गेंदबाज पिच का फायदा उठाएं तो यह टेस्ट अब भी भारत के हाथों से निकला नहीं है।
राहुल ने कहा कि पिच में दरारें खुल रही हैं। यहां पर आगे बल्लेबाजी और मुश्किल होगी। यकीनन रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा इन हालात का फायदा उठा सकते हैं। उन्होंने कहा कि वह जमकर खेल रहे थे, लेकिन ये उनकी जिम्मेदारी थी कि टीम के लिए ज्यादा से ज्यादा रन जोड़ सकें। जब आखिर में एक-दो बल्लेबाज बचे तो मैंने तेजी से रन जोडऩा शुरू किया और यही कारण है कि शतक से पहले विकेट गंवाना पड़ा। निश्चित तौर पर मैं अपने घरेलू मैदान पर शतक लगाना चाहता था। उन्होंने नाथन लियोन की गेंदबाजी की तारीफ करते हुए कहा कि नई गेंद शुरुआत में बल्ले पर ठीक से आ रही थी, लेकिन विकेट में नमी होने की वजह से स्पिनरों ने खूब फायदा उठाया। गेंद पुरानी हुई तो नाथन ने ऑफ स्टंप के बाहर हालात का फायदा उठाते हुए खूब विकेट झटके। वह लगातार एक जैसी गेंद फेंकते रहे जिसका उन्हें फायदा मिला। 
दोनों ही मैचों में भारतीय बल्लेबाज अब तक अच्छी साझेदारी नहीं कर पाए हैं। कप्तान विराट कोहली पुणे केबाद इसका जिक्र कर चुके हैं। राहुल ने कहा कि ये जरूरी है कि हम अच्छी साझेदारी करें। राहुल ने कहा कि इन सबके बावजूद खिलाड़ी जिम्मेदारी लेने को तैयार हैं, ये टीम के लिए सकारात्मक बात है। उनके मुताबिक अभिनव मुकुंद और करुण नायर का सस्ते में आउट होना टीम पर भारी पड़ गया। उन्होंने कहा कि अभिनव अभी आए हैं। उनसे उम्मीद थी। करुण अच्छा खेल रहे थे। ये बल्लेबाज नहीं चल पाए। ये मेरी और दूसरे बल्लेबाजों की जिम्मेदारी है कि हम पारी को बेहतर करें। अच्छी बात यह है कि हम जिम्मेदारी उठाने को तैयार हैं। 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjay Savern