सिडनी, एएनआइ। ऑस्ट्रेलिया के सहायक कोच एंड्रयू मैकडोनाल्ड ने रविवार को कहा कि स्टीव स्मिथ की कमजोरी शॉर्ट गेंद नहीं है। अगर भारतीय तेज गेंदबाज उनके खिलाफ बाउंसर का प्रयोग करते हैं तो उन्हें कोई समस्या नहीं होगी। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वैसे तो तीनों फॉर्मेट की सीरीज खेली जानी है, लेकिन वनडे और टी20 सीरीज से पहले सभी की निगाहें दोनों देशों के बीच होने वाली चार मैचों की टेस्ट सीरीज पर हैं।

इसी टेस्ट सीरीज को लेकर कंगारू टीम के असिस्टेंट कोच ने क्रिकइंफो से बात करते हुए कहा, "मुझे नहीं लगता कि यह (शॉर्ट-बॉल) वास्तव में एक कमजोरी है। मुझे लगता है कि वे शुरुआत में ऐसा कर सकते हैं, लेकिन फिर अपने प्लान के मुताबिक उनको आउट करना चाहेंगे और रन रोकने का प्रयास करेंगे। भारतीय गेंदबाजों ने ऐसा पहले भी किया है और वे लंबे प्रारूप में अच्छा कर रहे हैं तो मुकाबला शानदार होगा।"

एंड्रयू मैकडोनाल्ड ने कहा है, "मुझे पता है कि टेस्ट मैच में वह जोफ्रा आर्चर के खिलाफ असहज थे, लेकिन बाद में वापसी करते हुए स्मिथ रन बनाने में सक्षम थे। एक दिवसीय क्रिकेट में भी, वह स्कोर करने में सक्षम थे और टी20 क्रिकेट में वह विरोधियों द्वारा अपनाई जा रही उस योजना के साथ रन बनाने में सफल हुए थे। ऐसे में इसे एक कमजोरी के रूप में न देखें, लेकिन अगर वे चाहें तो वे ऐसी गेंदबाजी कर सकते हैं।"

गौरतलब है कि पिछले साल स्टीव स्मिथ को एशेज सीरीज के दौरान चोट का सामना करना पड़ा था, जब जोफ्रा आर्चर की एक गेंद उनके हेलमेट को लगी थी। इसके बाद न्यूजीलैंड के नील वैग्नर ने भी उनको इसी तरह निशाना बनाया था। इंग्लैंड के खिलाफ हाल ही में खेली गई एशेज सीरीज में भी स्टीव स्मिथ नहीं खेल पाए थे, क्योंकि उनको चोट लगी थी। राजस्थान रॉयल्स के लिए भी आइपीएल में वे तीन अर्धशतकों के साथ 14 पारियों में महज 311 रन बना सके हैं।

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस