नई दिल्ली, जेएनएन। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट ने भारतीय टीम के खिलाड़ियों के किसी खास शब्द के इस्तेमाल करने की बता कही है। उनका कहना था कि भारत के दौरे पर जब भी हरभजन ने उनका विकेट लिया तो भारतीय खिलाड़ी उस खास शब्द को बोलते थे। वो शब्द क्या था ये याद नहीं लेकिन जब रन बनाता था तो उसका इस्तेमाल नहीं करते थे।

‘Live Connect’ पर बात करते हुए पूर्व ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर ने कहा, "मैं वो शब्द तो याद नहीं कर सकता लेकिन जब भी रन बनाया करता था तो ऐसा सुनने को नहीं मिलता था लेकिन जब कभी भी हरभजन सिंह मुझे आउट करते थे तो एक शब्द सुनने को मिलता था। मुझे पक्का नहीं पता लेकिन ऐसा सुनता था ये तो पक्का कहूंगा।"

साल 2001 की सीरीज में हरभजन सिंह ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 32 विकेट हासिल किए थे और अकेले दम पर मैच का नतीजा बदल दिया था। उन्होंने रिकी पोंटिंग और एडम गिलक्रिस्ट को इस दौरे पर बिल्कुल भी चलने नहीं दिया था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 18 मुकाबलों में भज्जी ने कुल 95 विकेट चटकाए। टेस्ट में भज्जी ने पोंटिंग को 10, हेडन को 9 जबकि गिलक्रिस्ट को 7 बार आउट किया है।

भारत में खेलने के अनुभव पर उन्होंने कहा, "यह हमेशा ही मजेदार होता था, भारत से प्यार है...भारत के लोगों ने मेरे साथ बहुत ही अच्छा व्यवहार किया है और यह वाकई खूबसूरत है। हम मुख्य मंत्री के साथ गांधी जी की मूर्ति देखने के लिए रुके थे और उसकी वजह से पूरा ट्राफिक रुक गया था।"

मुंबई में दर्शकों के बीच मची थी सेल्फी लेने की होड़

"एक सुबह मुंबई में जब मैं जागा और जॉगिंग करने के लिए गया तो मैंने हैट लगाई हुई थी और सनग्लास भी लगाया था और कानों में इयरफोन डाल रखा था। उसके बाद भी कुछ क्रिकेट फैंस ने मुझे पहचान लिया और एक बार जब मुझे दौड़ते हुए उन्होंने पकड़ लिया तो वो सब भी मेरे साथ ही दौड़ते गए.. दौड़ते गए..."

"वो सभी मेरे साथ सेल्फी लेने के लिए पीछा कर रहे थे। ऐसा करने में काफी मजा आया। यह हमेशा ही काफी मनोरंजक होता है, हमेशा ही काफी ऊर्जा मिलती है। मैं इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं हूं कि अगला दौरा कब होगा लेकिन मैं भारत के दौरे पर जाने के लिए इंतजार नहीं कर सकता।"  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस