कोलकाता, पीटीआइ।  यहां का ईडन गार्डेंस स्टेडियम भारतीय टीम के एक ऐतिहासिक लम्हे का गवाह बनेगा। 22 से 26 नवंबर के बीच इस मैदान पर खेले जाने वाले टेस्ट मैच डे-नाइट टेस्ट होगा। ऐसा पहली बार होगा जब भारतीय टीम कोई डे-नाइट टेस्ट मैच खेलने उतरेगी। इसको लेकर बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) के सचिव अभिषेक डालमिया ने मंगलवार को कहा कि भारत के पहले डे-नाइट टेस्ट मैच को सफल बनाने के लिए वह कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

बीसीसीआइ के पूर्व अध्यक्ष जगमोहन डालमिया के बेटे अभिषेक डालमिया (Abhishek Dalmia) ने कहा कि एक शब्द में कहूं तो हम खुश हैं। सभी क्रिकेट प्रेमियों के लिए भी यह एक बड़ी खुशखबरी है। ईडन में बहुत सारे इतिहास बने हैं। यह इसकी उपलब्धियों में एक और होगी। उन्होंने कहा कि सीएबी यह सुनिश्चित करेगा कि इस आयोजन को सफल बनाने में कोई कसर नहीं रह जाए। इस दौरान गणमान्य व्यक्तियों और विशिष्ट अतिथियों की उपस्थिति, सांस्कृतिक कार्यक्रम और पूर्व खिलाड़ियों का सम्मान इसे और भव्य बनाएगा।

कार्निवल का रूप दिया जाएगा

डालमिया ने आगे कहा है कि हम बुधवार से ही तैयारी शुरू कर देंगे, ताकि इसे कार्निवल का रूप दे सके। हम बीसीसीआइ अध्यक्ष संग बैठकर सभी तैयारियों को अमलीजामा पहनाएंगे। साथ ही हम भारतीय खिलाडि़यों के साथ भी संपर्क बनाए रखेंगे। वहीं, बीसीसीआइ के सचिव जय शाह ने कहा कि यह भारतीय क्रिकेट के लिए बड़ा दिन है। सौरव, मैंने और हमारी टीम ने इस आइडिया पर काम किया। यह हमारा पहला कदम है।

उन्होंने आगे कहा, "यह समय इस प्रक्रिया को शुरू करने के लिए अच्छा है, क्योंकि बांग्लादेश के बाद हमें ज्यादा टेस्ट नहीं खेलने है। बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष नजमुल हसन ने भी इस फैसले का स्वागत किया और कहा कि यह दोनों देशों के बोर्ड के बीच सहज संबंधों का प्रतीक है। बीसीबी और बीसीसीआइ ने हमेशा से ही एक दूसरे की मदद की है। हमारे बीच अच्छी दोस्ती है। हमारे संबंध ही हमारी मजबूती हैं।"

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप