नई दिल्ली, जेएनएन। इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में भी विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर खिताब जीतने में नाकाम रही। अंतिम चार में पहुंची बैंगलोर को एलिमिनेटर में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ हार कर बाहर होना पड़ा था। इस हार के बाद आलोचकों ने विराट की कप्तानी पर निशाना साझा था। पूर्व भारतीय ओपनर आकाश चोपड़ा ने आलोचकों से सवाल पूछा है।

आरसीबी की टीम प्लेऑफ में पहुंची, उन्होंने शायद उतना अच्छा खेल नहीं दिखाया लेकिन फिर भी वह अंतिम चार में पहुंचने में कामयाब रही। भले ही वह एसआरएच के खिलाफ हार गए हों लेकिन कुल मिलाकर उनका प्रदर्शन अच्छा ही रहा। एक सवाल है कि अगर पिछले 8 साल के कोहली आरसीबी के कप्तान है और उनकी टीम यह खिताब नहीं जीत पाई। ऐसे में उनको हटा देना चाहिए फिर तो उनको भारतीय क्रिकेट टीम के टी20 कप्तान के पद से भी हटा देना चाहिए।

मेरा सभी आलोचकों से एक छोटा सा सवाल है। मैं विराट कोहली की कप्तानी का फैन नहीं हूं, लेकिन मैं बेहद ही निपक्ष रूप से अपने विचार सामने रखना चाहता हूं। अगर आप कोहली के अलावा किसी और को टीम का कप्तान बना देते तो ये फाइनल जीत जाते, क्या ये टीम आगे पहुंच जाती। अब अगर यह टीम इतनी ही बढ़िया रहती और कप्तान की वजह से पीछे जा रही है तो बिल्कुल हटा दीजिए।

कोहली की जगह कौन है कप्तानी का उम्मीदवार

कप्तानी से कोहली के हटाने में कोई दिक्कत नहीं है लेकिन जब आप उनको हटाने की बात करते हैं तो यह भी बिल्कुल बताईए को यह हमारा कप्तान है। यह कप्तानी की उम्मीदवार है और यही टीम किसी और को दे देंगे तो वह जीत जाएगी। मैं मानता हूं कि कप्तान के अच्छे होने से बहुत फर्क पड़ता है लेकिन यह कहना की टीम खराब करती है तो इनकी वजह से करती आई है बिल्कुल गलत है। अगर यही कर रहे हैं तो कह दो कि इनकी वजह से नंबर चार पर पहुंची थी। लेकिन यह भी कहना गलत ही होगा क्योंकि ऐसा तो नहीं कोहली की कप्तानी की वजह से ही टीम नंबर चार पर पहुंची और कोहली नहीं होते तो नीचे रह जाते।

"मैं मानता हूं कि कोहली की कप्तानी में टीम खराब कर रही है लेकिन वह इतने भी खराब कप्तान नहीं हैं, जितना की लोगों ने उनको बना दिया है। क्योंकि वो इतने ही बुरे कप्तान होते तो फिर भारतीय टीम की कप्तानी नहीं कर रहे होते।"  

 

Ind-vs-End

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप