रायपुर, गिधौरी/टुंडरा। निप्र। बलौदाबाजार पुलिस ने नकली नोट गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस मामले में 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से 1 लाख 51 हजार 700 रुपए, कंप्यूटर, स्कैनर व कलर प्रिंटर जब्त किया है। आरोपी 2000, 500 व 100 के नकली नोट जुआ, सट्टा, गांजा आदि में खपाते थे। ग्रामीण साप्ताहिक बाजार उनके मुख्य केंद्र थे।
पुलिस अधीक्षक आरिफ एच. शेख, एसडीओपी बिलाईगढ एसआर अहिरवार, थाना प्रभारी एसके जांग़$डे, उपनिरीक्षक किशोर चंदाकर ने मीडिया के सामने गिरोह के सदस्यों अजय खुंटे, तेजस्वनी बंजारे, दूजराम सायता़े$डे, गंगा मानिकपुरी, राजू कश्यप, भागवत साहू व ज्ञानदास कुर्रे को मीडिया के सामने पेश करते हुए मामले का पटाक्षेप किया।

एसपी ने बताया कि 27 जनवरी को चौकी गिरौधपुरी के ग्राम दलदली डेम के पास जुआरियों से जब्त की गई रकम में नकली नोट मिलने के बाद एएसपी वेदव्रत सिरमौर के निर्देशन में स्पेशल स्क्वॉड की टीम बनाकर पतासाजी शुरू की गई। 29 जनवरी की रात टीम ने ग्राम राछाभाठा में संदेह के आधार पर भागवत साहू को पक़$डकर तलाशी ली तो उसके पास से 10 हजार रुपए के नकली नोट मिले, जो पांच सौ व दो हजार रपए के थे।
जांजगीर-चांपा से लाता था
भागवत ने जिला जांजगीर-चांपा के ग्राम कुरियारी थाना शिवरीनारायण निवासी दूजराम से, कोरबा के ग्राम भलपहरी के अजय खुंटे व तेजस्वनी बंजारे के पास से नकली नोट लाने की जानकारी दी। दूजराम के बयान के आधार पर पुलिस अन्य आरोपियों तक पहुंची। तेजस्वनी व अजय कम्प्यूटर से स्कैन कर बाजार में खपाने करीब 5 लाख के नकली नोट दिए थे।
जब्त किए गए नोट
2000 रुपए के 46 नोट [ 92000 ] रुपए, 500 के 70 नोट [ 35000 ] तथा 100 रुपए के 247 नोट [24700] रुपए कुल 1 लाख 51 हजार 700 रुपए।

Posted By: Bhupendra Singh