रायपुर, कोरबा, नईदुनिया न्यूज। एक महिला कोल कर्मचारी उस वक्त सहम गई, जब उसके मोबाइल पर मैसेज आया कि डाकघर में उसके सेविंग अकाउंट में तीन अरब 15 करा़ेड से ज्यादा रकम जमा है। इतनी राशि कहां से आई यह सोचते दिन निकल गया। अगले दिन पिर एक मैसेज आया, कि उनके खाते में महज 10 हजार 567 रुपए ही है। दरअसल डाकघर प्रबंधन ने त्रुटिवश महिला कर्मचारी के खाता नंबर को ही उसके बैलेंस अमाउंट में दर्ज कर दिया था, मुख्यालय से दिशा-निर्देश पर गलती सुधार ली गई है।
एसईसीएल में कार्यरत श्रीमती एटी लक़डा गेवरा कॉलोनी के मकान नंबर एमडी-182 में रहती हैं। गेवरा के डाकघर में उनका बचत खाता है। केंद्र सरकार द्वारा एक हजार और 500 रुपए के पुराने नोटों को प्रचलन से बाहर करने के बाद श्रीमती लक़डा भी पुराने नोट जमा कराने डाकघर पहुंची। 11 नवंबर को अपने बचत खाते में उन्होंने 9 हजार 500 रुपए के नोट जमा कराए, उनके खाते में पहले से एक हजार 567 रुपए था।

रकम जमा कर श्रीमती लक़डा अपने घर आ गई। राशि खाते में च़ढाने की प्रक्रिया पूरी होने के बाद श्रीमती लक़डा के मोबाइल पर एसएमएस आया, जिसे देख वह दंग रह गई। 10 हजार 567 रुपए की बजाय उनके खाते में तीन अरब, 15 करा़ेड 39 लाख 92 हजार 932 रुपए [ 3153992932 ] जमा होने की सूचना थी। पूरे-दिन हैरान व परेशान रहने के बाद अगले दिन फिर से एक मैसेज आया, जिसमें डाकघर ने उनके बचत खाते में 10 हजार 567 रुपए होने की जानकारी दी । डाकघर में गलती से उनके अकाउंट नंबर [ 3153992932 ] को ही उनके खाते का अमाउंट दर्ज कर दिया गया था।

डाकघर प्रबंधन ने हेडऑफिस से गाइडलाइन लेकर गलती सुधारी। कुछ दिन पहले की घटना है, जिसमें हमारे डाकघर की एक खाताधारक श्रीमती एटी लक़डा के खाते के नंबर को गलती से उनके बैलेंस में लिख दिया गया। इसकी वजह से खाते में तीन अरब से ज्यादा अमाउंट शो हो रहा था। हेडऑफिस को इसकी सूचना दी गई और दिशा-निर्देश प्राप्त कर त्रुटि में दूसरे दिन ही सुधार कर लिया गया है, जिसकी जानकारी खाता धारक को एसएमएस के जरिए भेज दी गई- भुवनलाल पटेल, डाकपाल, डाकघर गेवरा।

पढ़ें:राजधानी से रायपुर के लिए उड़ान 24 से शुरू

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप