बिलासपुर, ऑनलाइन डेस्क। बिलासपुर में अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन की हड़ताल खत्म हो चुकी है। हड़ताल के चलते लगातार 13 दिनों से सरकारी दफ्तरों में कामकाज ठप था। जिससे सभी विभागों में सैकड़ों काम पेंडिंग पड़े हैं। मालूम हो कि हड़ताल खत्म होने के बाद शनिवार और रविवार को सरकारी अवकाश पड़ गया। अब सोमवार को सभी दफ्तरों में कामकाज शुरू होगा। इससे आम जनता को कुछ राहत मिलेगी।

हड़ताल का कारण

मालूम हो कि जुलाई माह में भी पांच दिवसीय हड़ताल में 6 प्रतिशत महंगाई भत्ता सरकार ने बढ़ाया था, लेकिन फेडरेशन के पदाधिकारियों ने 12 प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ाने की मांग कर रहे थे।अधिकारी कर्मकजरी फेडरेशन केंद्र के समान महंगाई भत्ता 34 प्रतिशत और सातवें वेतनमान के अनुसार गृह भाड़ा भत्ता देने की मांग को लेकर 22 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल में चले गए थे।

11 दिनों के हड़ताल में 13 दिनों तक बंद रहे दफ्तर

जानकारी हो कि फेडरेशन के 11 दिनों तक हड़ताल और दो दिन की शनिवार व रविवार की छुट्टी से 13 दिनों तक सरकारी दफ्तरों में कामकाज ठप रहा। ऐसे में लोगों को सरकारी कामकाज के लिए भटकना पड़ा। कई सरकारी दफ्तरों में तो पूरी तरह से ताला ही लटक गया। अब 13 दिनों तक बंद रहने के बाद सोमवार से सरकारी दफ्तरों में तालाबंदी खत्म होगी और कामकाज शुरु होगा। इससे लोगों को राहत मिलेगी।

जमीन रजिस्ट्री भी ठप रही

अधिकारी-कर्मचारी फेडरेशन द्वारा प्रदेशभर में 22 अगस्त से अनिश्चित कालीन आंदोलन किया। मालूम हो कि डीईओ आफिस, स्कूल, कालेज, सचिव कार्यालय पटवारी कार्यालय में ताला लटका रहा। उप पंजीयक कार्यालयों में तालाबंदी रही जिससे जमीन रजिस्ट्री ठप रही। अब सोमवार को सरकारी दफ्तरों में फिर से कामकाज शुरु होगा। हड़ताल पर चले जाने से सरकारी दफ्तरों में कामकाज बंद होने से लोगों को भारी परेशानी हो रही थी।

वहीं, तहसील कार्यालय, जिला कलेक्टोरेट, ट्रेजरी कार्यालय स्वास्थ्य, कृषि, लोक निर्माण, पीएएचई, आदिमजाति, सिंचाई, जिला पंचायत, कृषि महाविद्यालय, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, तहसील, आरईएस में संविदा कर्मचारियों के भरोसे संचालित हुआ। जिला पंचायत, जिला अस्पताल में कर्मचारी नहीं होने से कोई भी काम नहीं हो पाया ।

कलेक्ट्रेट कार्यालय में सिर्फ कलेक्टर जनदर्शन लेते रहे

जानकारी हो कि जिलेभर के लोग अपनी अपनी समस्या लेकर कलेक्टर के पास पहुंच रहे थे। कलेक्टर आम जनता की शिकायत सुनकर सिर्फ आश्वासन दे रहे थे। कलेक्ट्रेट कार्यालय में सिर्फ कलेक्टर जनदर्शन लेते रहे, बाकी अन्य आफिस बंद रहा। जन दर्शन में मिले सभी आवेदनों को सोमवार को संबंधित विभागों को भेजा जाएगा। साथ ही समस्या का त्वरित निपटाने के निर्देश देंगे। ताकि आम जनता को राहत मिल सके।

सोमवार से खुलेंगे सभी दफ्तर

जानकारी के अनुसार हड़ताल के दौरान फेडरेशन व अधिकारियों के बीच दो से तीन बार राज्य सरकार के बीच बैठकें हुई। लेकिन सहमति नहीं बनी। इसके बाद 2 सितम्बर को कृषि मंत्री ने फेडरेशन से फिर से चर्चा की। इस बार शासन की और से तीन प्रतिशत भत्ता बढ़ाने का आश्वासन मिला। इसके बाद आंदोलन खत्म हुआ। 

Edited By: Priti Jha

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट