सिंघानिया बिल्डकॉन सामाजिक कार्यों के जरिए लोगों के दिलों में भी घर बसाता जा रहा है। सिंघानिया बिल्डकॉन के चेयरमैन सुबोध सिंघानिया ने बताया कि उन्होंने उस दौर में रियल इस्टेट में कदम रखा था जब लोग बना हुआ मकान लेना पसंद नहीं करते थे। इसके बाद भी एक बार इस क्षेत्र में प्रवेश करने के बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। 

लग्जरियस प्रोजेक्टों के साथ ही कंपनी ने उपभोक्ताओं के बजट होम का भी ध्यान रख रही है और खास बात यह है कि सभी प्रोजेक्टों में ग्राहकों को अत्याधुनिक सुविधाएं मिल रही है। इन कार्यों के साथ कंपनी सामाजिक कार्यों में भी अपना दखल रखती है। कंपनी ने राजधानी से लगे ग्राम गंडई में अपने सौजन्य से धर्मशाला का निर्माण कराया है। इससे ग्रामीणों को बड़ी सुविधा मिल गई है। अब वहां के ग्रामीण मुफ्त में अपने पारिवारिक कार्यक्रम करा सकते हं।

आर्थिक रूप से कमजोर 10 बच्चों की पढ़ाई का खर्च सिंघानिया बिल्डकॉन द्वारा हर साल आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों की पढ़ाई का पूरा खर्च उठाया जाता है। कंपनी के चेयरमेन सुबोध सिंघानिया ने बताया कि इन बच्चों की जानकारी उन्हें संस्थाओं से मिलती है और इस काम को पूरी तरह से गोपनीय रखा जाता है।
स्वास्थ्य तथा खेल का भी ध्यान वहीं गरीबों के स्वास्थ्य का भी पूरा ध्यान रखा जाता है। इसके तहत आर्थिक रूप से पिछड़े व मदद की आवश्यकता को देखते हुए कंपनी मरीज के इलाज का पूरा खर्च भी एक निजी हॉस्पिटल में उठा चुकी है। इसके साथ ही खेल प्रतिभाओं को बढ़ावा देने अच्छे खिलाड़ियों को आर्थिक मदद भी दी जाती है।

दस हजार लोगों के खाने की व्यवस्था
कंपनी द्वारा शिक्षा, स्वास्थ्य के साथ ही धर्म-कर्म में भी पूरा ध्यान रखा जाता है। वर्ष 2017 में कंपनी ने रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में सन टू ह्युमेन कार्यक्रम कराया था। जहां प्रतिदिन लोगों के स्वास्थ्य के लिए व्यायाम के साथ ही आध्यात्मिक चर्चा भी सुनने को मिलती थी। रोजाना इस शिविर में कम से कम आठ से 10 हजार लोगों के खाने की व्यवस्था थी और यह पूरा काम खुद कंपनी करती रही। इसके साथ ही पौधरोपण व साफ-सफाई के लिए तो पिछले दिनों वीआइपी रोड स्थित राम मंदिर में साफ-सफाई का अभियान भी चलाया गया।

By Krishan Kumar