रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

क्वालिटी और गुणवत्ता के कारण लोहा बाजार में अलग मुकाम बनाने की कोशिश में जुटी सार्थक कंपनी व्यवसाय के साथ सामाजिक दायित्वों का पूरा ध्यान रख रही है। कंपनी के जिम्मेदार अधिकारियों का मानना है कि व्यवसाय अपनी जगह है, मगर साथ ही सामाजिक जरुरतों को पूरा करने से नए विचार के द्वार खुलते हैं। इससे जनता के साथ समाज और देश का भी कल्याण होता है। घर के साथ समाज को मजबूती देने के ध्येय के साथ इस कंपनी ने स्वास्थ्य सेक्टर का विशेष ख्याल रखा है। कंपनी के अधिकारी कभी अस्पतालों में मरीजों की मदद करते हैं तो जेल में बंद कैदियों की मदद करते हैं।

खेल प्रतिभाओं को उभारने के लिए समय-समय पर कंपनी कार्यक्रम आयोजित करती है। सार्थक ग्रुप के चेयरमैन विजय गर्ग का कहना है कि कंपनी कारोबार के साथ सामाजिक दायित्वों को भी निभाने में सदा अग्रणी रही है। हमेशा यह प्रयास रहता है कि ऐसे कार्य किए जाएं, जिससे लोगों को अधिक से अधिक फायदा पहुंचे और समाज का विकास हो। इसका एक और उद्देश्य नई पीढ़ी को भी समाजसेवा के प्रति जागरूक करना है। पिछले दिनों कंपनी ने रायपुर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल बाबा साहेब आंबेडकर अस्पताल में कैंसर मरीजों की सहायता के लिए वाटर कूलर भेंट किया। स्वच्छता और रक्तदान शिविर आदि पर विशेष ध्यान दिया जाता है। सफाई के प्रति लोगों को जागरूक किया जाता है तथा रक्तदान के माध्यम से आपातकाल में पड़ने वाली आवश्यकता की पूर्ति की जाती है।

तीन कैदियों को कराया रिहा

सार्थक ग्रुप की पहल से बीते स्वतंत्रता दिवस पर तीन कैदी रिहा हुए। इसमें रोटरी क्लब ने भी हाथ बंटाया। ये वे कैदी थे जो जुर्माने की रकम न दे पाने के कारण जेल में रहने को विवश थे। ग्रुप के चेयरमैन विजय गर्ग ने बताया कि ये कैदी अतिरिक्त सजा काट रहे थे। ऐसे कैदियों की लिस्ट तैयार करवाई जा रही है। रोटरी क्लब की ओर से महिला कैदियों को सेनेटरी नैपकिन व बच्चों के खिलौने दिए गए।

By Krishan Kumar