रायपुर, ब्यूरो। स्टील, एनर्जी व ट्रेडिंग का काम करने वाले रतनलाल अग्रवाल और उनके सहयोगियों के दस ठिकानों पर आयकर छापे के दूसरे दिन बुधवार को भी जांच चलती रही। आयकर विभाग के आला अधिकारियों ने बताया कि दस्तावेज की जांच में यह पता चला है कि समूह ने दिल्ली में एक होटल शुरू किया है। इसमें भी करा़ेडों पए का निवेश किया गया है। इसके साथ ही फिल्मों में निवेश की जानकारी मिल रही है। एक मशहूर अभिनेत्री के साथ मिलकर कारोबारी फिल्म बना रहे हैं। बताया जा रहा है कि सिलतरा में कंपनी ने करा़ेडों रुपए निवेश करके नई स्टील फैक्ट्री शुरू की है। इसके निवेश के बारे में सही जानकारी नहीं मिल रही है। इसको लेकर आयकर की टीम देर रात तक पूछताछ करती रही।
आयकर विभाग के आला अधिकारियों ने बताया कि गोयल ग्रुप के सभी ठिकानों से एक करा़ेड पांच लाख रुपए नकद मिले हैं। सभी राशि नए नोट में बरामद की गई है। कुछ विदेशी मुद्राएं भी मिली हैं, जिसके सोर्स के बारे में पूछताछ हो रही है। आयकर विभाग की इन्वेस्टिगेशन विंग के आला अधिकारियों ने बताया कि करा़ेडों रपए की ज्वेलरी मिली है। इसमें सोने और हीरे के अलावा अन्य कीमती जवाहरात भी शामिल हैं। इनका वैल्यूएशन किया जा रहा है। आयकर की टीम ने समता कॉलोनी, गु़िढयारी और सिलतरा के ठिकानों के साथ--साथ कोलकाता में तीन ठिकानों पर कार्रवाई की है।
70 बैंक पासबुक और चार लॉकर
बताया जा रहा है कि छापे के दौरान एसबीआई सहित कई बैंकों की 70 पासबुक मिली हैं। चार लॉकर का भी खुलासा हुआ है। आयकर की टीम गुवार को लॉकर को खोलेगी। छापे में आयकर विभाग के 50 अधिकारी लगाए गए हैं। जांच के बाद आशंका जताई जा रही है कि बेनामी संपत्ति का खुलासा हो सकता है।
रतनलाल और अग्रवाल परिवार के ठिकाने
जगदीश प्रसाद गजानंद एंड फर्म, गोयल एनर्जी एंड स्टील प्रायवेट लिमिटेड टाटीबंध, गोयल ट्रेडर्स गु़ि$ढयारी, गोयल के भतीजे कैलाश अग्रवाल की खरोरा में जेसी राइस मिल। रमन अग्रवाल का गु़िढयारी में मकान, इनके बेटों का तेंदुआ गांव और शंकरनगर में मकान, रतनलाल के भतीजे कैलाश का समता कॉलोनी और खरोरा में मकान है।

Posted By: Bhupendra Singh