रायपुर। छत्तीसगढ़ के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के दिल्ली से लौटने के बाद अचानक शनिवार की शाम महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष बदल दी गई हैं। पूर्व विधायक फूलोदेवी नेताम को नया अध्यक्ष बनाया गया है। वे अनिता रावटे का स्थान लेंगे। नेताम को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की पसंद पर यह जिम्मेदारी दी गई है। राहुल गांधी खुद बस्तर की राजनीति पर रुचि ले रहे हैं इस कारण आदिवासी महिला को यह जिम्मेदारी दी गई है।
फूलो देवी झीरम घाटी हत्याकांड की पीड़ितों में से एक रही हैं इस कारण इस फैसले को राजनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जा रहा है। कांग्रेस इसी महीने वन अधिकार पट्टा काे लेकर बस्तर से बड़ा आंदोलन शुरू करने जा रही है। रावटे से प्रदेश अध्यक्ष का पद लेकर उन्हें महिला कांग्रेस का राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया है। उनको राष्ट्रीय टीम में जगह मिलने से समर्थक तो खुश हैं लेकिन कहा जा रहा है कि महिला कांग्रेस के हाल के परफारमेंस के चलते उनसे जिम्मेदारी वापस ली गई है।

पढ़ें:छत्तीसगढ़ पुलिस की इस कांस्टेबल के फेसबुक पर हैं 7 लाख फॉलोअर्स

हाल ही में हुए आंदोलनों में कांग्रेस के सभी मोर्चा-संगठनों को शामिल किया गया। इस दौरान महिला कांग्रेस और कांग्रेस सेवादल के प्रदर्शन को लेकर वरिष्ठ नेताओं से लगातार चिंता जाहिर की। अनिता रावटे भी इन आंदोलनों में भीड़ जुटाने में युवा कांग्रेस, एनएसयूआई के मुकाबले काफी कमजोर साबित हुई, उनके 40 साल के लंबे अनुभव और कांग्रेस के प्रतिनिष्ठा को देखते हुए उन्हें अखिल भारतीय महिला काग्रेस का महासचिव बनाया गया है। इसके साथ ही अखिल भारतीय महिला कांग्रेस में छत्तीसगढ़ से दो नेत्रियां हो गई हैं।

पढ़ें:चातुर्मास के चलते लगी है विवाह पर रोक, देवउठनी एकादशी पर हटेगी ये रोक

पढ़ें:सोशल मीडिया पर दुनियाभर में ट्रेंड करता रहा मोदी का छत्तीसग़ढ दौरा

Posted By: Bhupendra Singh