रायपुर, जेएनएन। Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में रायपुर पुलिस (Raipur Police) ने क्रेडिट कार्ड (Credit Card) से लाखों रुपये की ठगी करने वाले चार आरोपितों को दिल्ली से गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपित दिल्ली के तिलकनगर का निवासी दिलप्रीत सिंह है। वह विकासपुरी में दो कमरे में फर्जी काल सेंटर चला रहा था। आरोपितों से अलग-अलग बैंकों के एटीएम कार्ड (ATM Card) बरामद कर दर्जनों बैंक खातों को फ्रीज कर दिया गया है।

ऐसे फंसाते से ठगी के जाल में

एसएसपी (SSP) प्रशांत अग्रवाल ने मामले का राजफाश करते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए अन्य आरोपितों में बुलंदशहर जिले (उप्र) के सिकंदराबाद थाना क्षेत्र के गाजी निवासी चेतन यादव, अलीगढ़ जिले (उप्र) के जंवा थाना क्षेत्र के ग्राम रथिपुरिसया निवासी आलोक कुमार यादव उर्फ सचिन यादव और ओरैया जिले (उप्र) के थाना ओरैया ग्राम तुरकीपुर निवासी हिमांशु शुक्ला शामिल हैं। इनके पास से सात मोबाइल फोन जब्त किए गए हैं। एसएसपी ने बताया कि आरोपित पढ़े-लिखे हैं। क्रेडिट कार्ड उपयोग करने वालों को अपना शिकार बनाते थे। उन्होंने उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल व महाराष्ट्र में ठगी करने की बात स्वीकार की है। आरोपित क्रेडिट कार्ड बंद कराने या फिर क्रेडिट कार्ड से महंगे गिफ्ट का लालच देकर झांसे में लेते थे। मुख्य आरोपित दिलप्रीत सिंह दिल्ली में एक इवेंट कंपनी में काम करता है। वहीं, हिमांशु और चेतन गाड़ी चलाते हैं। दिलप्रीत ही लोगों को ठगी के जाल में फंसाता था।

क्रेडिट कार्ड बंद कराने का दिया झांसा

रायपुर (Raipur) के शैलेंद्रनगर निवासी विज्ञान कुमार जैन ने कोतवाली थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनके मोबाइल पर एक काल आया था, जिसमें सामने वाले ने क्रेडिट कार्ड उपयोग करने के बारे में जानकारी ली। उन्होंने जब उससे क्रेडिट कार्ड बंद करने को कहा तो उसने कहा कि कुछ देर में मोबाइल पर ओटीपी का मैसेज आएगा, जिसे बताने पर क्रेडिट कार्ड बंद कर दिया जाएगा। उन्होंने काल करने वाले को जैसे ही ओटीपी नंबर बताया, क्रेडिट कार्ड से एक लाख 89 हजार रुपये कट गए।

Edited By: Sachin Kumar Mishra