रायपुरशहर में 1 अक्टूबर नवरात्रि से महिला पुलिस का दस्ता पेट्रोलिंग करेगा। दस्ते में केवल महिला पुलिस अधिकारी और स्टाफ रहेगा। उनकी पेट्रोलिंग गाड़ी अलग होगी, जिसमें 100 और महिला हेल्प लाइन नंबर भी लिखा होगा। महिलाओं से संबंधित अपराध की सूचना मिलने पर बाकी टीमों के साथ महिला पेट्रोलिंग की टीम भी तुरंत वहां पहुंचेगी। महिला पुलिस दस्ते का लोकेशन स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर और ट्यूशन सेंटरों के पास ज्यादा रहेगा।


पार्क, मॉल और मार्केट एरिया में भी नियमित गश्त करेगी। इसके अलावा महिला पेट्रोलिंग वहां ज्यादा होगी जहां महिलाओं और युवतियों का आना-जाना ज्यादा रहता है। उसका पूरा प्लान तैयार कर लिया गया है। एडिशनल एसपी वर्षा मिश्रा ने बताया कि महिला संबंधित अपराध रोकने के लिए महिला पेट्रोलिंग बनाई जा रही है। यह पेट्रोलिंग सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक लगातार शहर में घूमती रहेगी। अलग-अलग शिफ्ट में महिला अफसर और पुलिस कर्मी की इसमें ड्यूटी लगाई जाएगी। जरूरत पड़ने पर रात में भी गश्त करायी जाएगी। खासतौर पर नवरात्रि के समय महिला पेट्रोलिंग की जिम्मेदारी बढ़ायी जाएगी।

महिला के मूवमेंट एरिया पर फोकस

पुलिस अफसरों ने बताया कि थानों की पेट्रोलिंग पार्टी कई तरह के काम में व्यस्त हो जाती है। लॉ एंड ऑर्डर से लेकर इलाके में गश्त, वीआईपी मूवमेंट सहित और भी कई तरह की जिम्मेदारी पूरी करनी होती है। इस कारण शैक्षणिक संस्थान के अलावा पार्क, मॉल पर रोज जांच नहीं की जा सकती। कई बार महिला संबंधित अपराध की सूचना मिलने पर थाने वालों को महिला स्टाफ का इंतजार करना पड़ता है। महिला स्टाफ के आने के बाद पुलिस की टीम माैके पर जाती है। इससे समय अधिक लगता है। पुलिस के रिस्पांस टाइम में सुधार करने और महिलाओं को तुरंत मदद मुहैया कराने के लिए महिला पेट्रोलिंग पार्टी बनाई जा रही है।

शहर में 9 पीसीआर

शहर में अभी 9 पुलिस की चलित कंट्राेल रूम वैन यानी पीसीआर दौड़ रही है। शहर के 30 थानों की अपनी पेट्रोलिंग पार्टी अलग है। यह टीम भी लगातार अपने इलाके में घूमती रहती है।

इसके अलावा रात में दो शिफ्ट में अफसरों और टीआई की गश्त का सिस्टम बनाया गया है। अब शहर में एक और पेट्रोलिंग पार्टी घूमेगी। शुरुआत में रात 10 बजे तक ही उनकी ड्यूटी लगाई जाएगी।

त्योहार के समय यह पेट्रोलिंग पार्टी 24 घंटे फील्ड पर रहेगी। राजधानी में महिला पेट्रोलिंग शुरू करने की योजना बनाई जा रही है। इसमें पूरा महिला स्टाफ रहेगा। जो महिला संबंधित अपराध होने पर तुरंत मौके पर जाएगा।

रायपुर एसपी डॉ. संजीव शुक्ला के मुताबिक, इस दस्ते की मदद से शहर के मॉल, पार्क और शिक्षण संस्थानों पर निगरानी रखी जा सकेगी।

छत्तीसगढ़ का पहली पेट्रोलिंग
पुलिस अफसरों का दावा है कि यह प्रदेश का पहली महिला पेट्रोलिंग होगी, जिसमें महिला पुलिस कर्मी ही गश्त करेंगे। इसके पहले इस तरह का प्रयोग कहीं नहीं किया गया। अफसरों के अनुसार राजधानी में प्रयोग सफल होने पर इसका विस्तार भी किया जाएगा।

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस