रायपुर। 500 और 1000 रुपए के नोटों को बंद किए जाने से बने हालात से परेशान होकर रायगढ़ में रविवार को एक किसान ने आत्महत्या कर ली। पुलिस के मुताबिक, रवि प्रधान नाम के शख्स ने अपने बेटों को समय पर पैसे नहीं भेज पाने के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

दो दिन से लगा रहा था बैंक के चक्कर
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार किसान रवि प्रधान (45) रायगढ़ के बरमकेला तहसील के सरिया ब्लॉक का रहने वाला था। वह पिछले दो दिनों से सरिया स्थित एसबीआई बैंक पर लाइन में लगकर कैश जमा करवाने की कोशिश कर रहा था। लेकिन भीड़ अधिक होने की वजह से वह बैंक में पैसे जमा कर पाने में नाकाम रहा। बेटों को वक्त पर पैसे न भेज पाने के दुख में आखिरकार उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।
बेटों ने इसलिए मांगे थे पैसे
मौके पर मौजूद लोगों ने बताया- किसान के दो बेटे तमिलनाडु में धोखे का शिकार हो गए हैं। दोनों बेटों को काम किए जाने के बदले में पैसे नहीं दिए गए, जिसकी वजह से वे काफी परेशान हैं।पिता को फोन पर बात करके बेटों ने उनसे पैसे जमा कराने के लिए कहा था। बेटों की परेशानी को समझते हुए पिता ने बेटों को भेजने के लिए कुछ पैसे उधार लिए थे, लगातार दो दिनों तक वह पैसे जमा कराने के लिए बैंक भी गया, लेकिन पैसे जमा नहीं कर पाया।

पढ़ें:शिक्षक ने स्कूल में 6 छात्राओं के काटे बाल, कारण जानकर अाप हैरान रह जाएंगे

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप