टोक्‍यो, रॉयटर्स। अमेरिका और चीन के बीच चल रहे व्‍यापार युद्ध से चीन को बड़ा झटका लगा है। चीन की मुद्रा युआन सोमवार को डॉलर के मुकाबले 11 साल के निम्‍नतम स्‍तर पर आ गई है। एक अमेरिकी डॉलर के मुकाबले युआन 7.1487 पर आ गया है। अमेरिका-चीन व्‍यापार युद्ध में नया मोड़ आने से न सिर्फ निवेशकों का भरोसा कम हुआ है बल्कि वैश्विक आर्थिक परिदृश्‍य भी धुंधला पड़ा है। 

अंतरराष्‍ट्रीय कारोबार में सोना आज अप्रैल 2013 के बाद के उच्‍च स्‍तर 1,554.56 डॉलर प्रति आउंस के स्‍तर पर पहुंच गया है। मुद्राओं की बात करें तो सिर्फ चीनी युआन ही नहीं बल्कि तुर्की की मुद्रा लीरा भी लुड़कती नजर आई। निवेशक मुद्राओं की जगह सुरक्षित परिसंपत्तियों में निवेश को ज्‍यादा तरजीह दे रहे हैं। 

टोक्‍यो के Gaitame.com रिसर्च इंस्‍टीट्यूट के जनरल मैनेजर ताकुया कांदा ने कहा, 'चीन की अर्थव्‍यवस्‍था सुस्‍ती की ओर बढ़ रही है इसलिए युआन में आगे तबतक गिरावट जारी रहने का अनुमान है जबतक कि चीन की सरकार कोई कदम नहीं उठाती।'

सोमवार को तुर्की की मुद्रा लीरा लगभग 1 फीसदी की कमजोरी के साथ डॉलर के मुकाबले 5.8 के स्‍तर पर कारोबार कर रहा था और यह गिरकर 6.47 के स्‍तर पर पहुंच गया था। 

शुक्रवार को अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रम्‍प ने घोषणा की थी कि चीन से आने वाले 550 अरब डॉलर के सामानों पर 5 फीसद अतिरिक्‍त शुल्‍क लगाया जाएगा। इसके बाद अमेरिकी शेयर बाजार में भी गिरावट देखने को मिली थी। दूसरी तरफ, चीन ने भी एलान किया कि वह अमेरिका से आने वाले 75 अरब डॉलर के सामानों पर शुल्‍क बढ़ाएगा।  

Posted By: Manish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस