नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। अगर आप पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के ग्राहक हैं तो ये खबर आपके लिए है। दरअसल, PNB ने ट्वीट कर बताया है कि हाल के दिनों में फ्रॉड करने वाले कैसे आपके खाते में पैसे की चपत लगा सकते हैं। बैंक ने अपने ग्राहकों को इससे बचने की सलाह दी है। साथी ही यह भी बताया है कि जालसाज आपको ठगने के लिए किन तरीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं। PNB ने फ्रॉड से बचने के लिए टिप्स भी दिए हैं। बैंक की ओर से बताया गया है कि जालसाज फेक कॉल के जरिये खुद को बैंक का अधिकारी बताकर ग्राहकों से उनकी निजी जानकारी जुटा रहे हैं, और इसके बाद खाते में सेंध मार लेते हैं। बैंक ने ग्राहकों को आगाह किया है कि वे गूगल या किसी अन्य सर्च इंजन पर PNB से जुड़ी कोई जानकारी न खोजें। बैंक ने अपने ग्राहकों से कहा है कि अगर उन्हें बैंक से जुड़ी कोई भी जानकारी चाहिए तो वे सीधे PNB की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं।

PNB ने सोशल मीडिया पर जानकारी शेयर की जो इस प्रकार है

बैंक ने ट्वीट में लिखा है, 'आजकल, जालसाज खुद को बैंक का अधिकारी बताकर फर्जी कॉल सेंटर के माध्यम से फ्रॉड कॉल कर रहे हैं और बैंक के खातों की व्यक्तिगत जानकारी ले करके उन्हें धोखा दे रहे हैं। हम आपको ऐसी धोखाधड़ी से बचाने के लिए पीएनबीकाफंडा लेकर आए हैं।'

बैंक ने फ्रॉड से बचने के लिए ग्राहकों को सुझाव दिए हैं। PNB ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है, 'गूगल या किसी अन्य सर्च इंजन के माध्यम से किसी भी बैंक से जुड़ी डिटेल खोजने का प्रयास न करें। इसके बजाये बैंक की अधिकृत वेबसाइट 'Contact Us' लिंक पर देखें।

'जब आप बैंक या बैंक के कॉल सेंटर से संबंधित होने का दावा करने वाले किसी व्यक्ति की कॉल प्राप्त करते हैं, तो डिस्प्ले नंबर पर आंख बंद करके भरोसा करें'। बैंक ने ग्राहकों को सतर्क रहने की सलाह दी है और ऐसे कॉल पर भरोसा न करने को कहा है।

पंजाब नेशनल बैंक ने अपने ट्वीट में सबसे जरूरी बात जो कही है वो यह है कि ग्राहक किसी भी सुझाए गए एप को इंस्टाल न करें। बैंक ने अपने तीसरे ट्वीट में कहा है कि ग्राहक इन एप्स को इंस्टाल न करें..जैसे: Quicksupport, Anydesk, VNC, UltraVNC, TeamViewer, Ammyy, Seescreen, BeAnywhere, LogMein, RealVNC, Skyfexetc।

इसके अलावा ईमेल, टेक्स्ट मैसेज या व्हाट्सएप से मिलने वाले लिंक से सावधान रहें। जो अपको थर्ड पार्टी या अज्ञात स्रोतों से एप इंस्टाल करने की सलाह देते हैं, इससे धोखाधड़ी हो सकती है। ट्वीट में बैंक ने लिखा है, 'किसी भी परिस्थिति में अपने पिन, ओटीपी को मोबाइल फोन या ईमेल के माध्यम से फोन, एसएमएस, व्हाट्सएप या स्क्रीन पर साझा न करें। तो ऐसे में आप भी बैंक द्वारा दी गई इन सलाह को मानकर जालसाजों से बचें।

Posted By: Nitesh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस