नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। अक्सर राज्यों या देशों के बीच यात्रा करते वक्त हम अपने सभी व्यक्तिगत दस्तावेजों को खो जाने के डर से साथ लेकर नहीं चलते। ऐसे समय में डिजिलॉकर में सभी दस्तावेजों को रखा जा सकता है। डिजिलॉकर आपके ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, वोटर आईडी, पॉलिसी दस्तावेजों आदि को स्टोर कर सकता है। एक बार जब आप डिजिलॉकर खाते से साइन अप कर लेते हैं, तो आपके दस्तावेज सुरक्षित होते हैं और आपके आधार नंबर जैसे क्लाउड स्टोरेज स्पेस में आसानी से अपलोड हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें: आपके Aadhaar का कहां-कहां हुआ है इस्तेमाल, घर बैठे ऐसे लगाएं पता

डिजिलॉकर नागरिकों को जरूरी कागजातों को बचाने में मदद करता है। इससे कागजी कार्रवाई की प्रक्रिया के झंझट से भ छुटकारा मिलता है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने पैन कार्ड एकीकरण सुविधा के लिए डिजिलॉकर के साथ साझेदारी की है। डिजिलॉकर में पैन स्टोर कर सकते हैं, आइए जानते हैं कैसे होता है यह काम।

यह भी पढ़ें: आधार असली है या नकली, आसानी से लगा सकते हैं पता

डिजिलॉकर में पैन स्टोर करने के क्या हैं तरीके, जानिए

स्टेप 1: आधिकारिक वेबसाइट डिजिलॉकर: https://www.digilocker.gov.in/dashboard पर क्लिक करें।

स्टेप 2: डिजिलॉकर अकाउंट में लॉग इन करें।

स्टेप 3: इसके बाद बाईं ओर “जारी किए गए दस्तावेज़” पर जाएं।

स्टेप 4: एक पॉप-अप दिखाएगा कि जारी किए गए दस्तावेज़ सीधे आपके डिजिलॉकर में रजिस्टर्ड सरकारी विभागों और एजेंसियों के संपर्क में हैं।

स्टेप 5: अब पार्टनर डे ड्रॉपडाउन से 'आयकर विभाग' चुनें।

स्टेप 6: फिर दस्तावेज़ प्रकार से 'पैन कार्ड' चुनें।

स्टेप 7: आधार डिटेल से नाम और जन्म तिथि पहले ही भर दी जाएगी। अपने पैन डिटेल को क्रॉस-चेक करें।

स्टेप 8: अब पैन नंबर दर्ज करें और ड्रॉप-डाउन से जेंडर चुनें।

स्टेप 9: सहमति बॉक्स को चेक करें और 'दस्तावेज़ प्राप्त करें' पर क्लिक करें।

स्टेप 10: अंत में आपका पैन डेटा डिजिलॉकर में स्टोर हो जाएगा और लिंक को 'जारी किए गए दस्तावेज़' के तहत एक्सेस किया जाएगा।