नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। CPSE ETF के छठे चरण के जरिये सरकार की योजना 10,000 करोड़ रुपये तक जुटाने की है। इसेे 18 जुलाई को लॉन्‍च किया जाएगा। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। CPSE एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) 11 केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों (CPSE)- ओएनजीसी, एनटीपीसी, आईओसी, रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन कॉर्प, पावर फाइनेंस कॉर्प, भारत इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स, ऑयल इंडिया, एनबीसीसी इंडिया, एनएलसी इंडिया और एसजेवीएन के शेयरों को ट्रैक करता है। 

अधिकारी ने कहा कि इस फॉलो ऑन फंड ऑफर (FFO) के इश्‍यू का मूल आकार 8,000 करोड़ रुपये होगा जिसमें 2,000 करोड़ रुपये अतिरिक्‍त सब्‍सक्रिप्‍शन के जरिये जुटाने का विकल्‍प भी होगा। यह इश्‍यू संभवत: 18 जुलाई को एंकर इन्‍वेस्‍टर्स के लिए खुलेगा। वहीं, दूसरे निवेशक इसमें 19 जुलाई से निवेश कर सकेंगे।  

CPSE ETF के पिछले पांच चरणों के जरिये सरकार पहले ही 38,500 करोड़ रुपये जुटा चुकी है। मार्च 2014 में 3,000 करोड़, जनवरी 2017 में 6,000 करोड़, मार्च 2017 में 2,500 करोड़, नवंबर 2018 में 17,000 करोड़ और मार्च 2019 में 10,000 करोड़ CPSE ETF के जरिए सरकार जुटा चुकी है। 

सरकार चालू वित्‍त वर्ष 2019-20 में विनिवेश के जरिए रिकॉर्ड 1.05 लाख करोड़ रुपये जुटाना चाहती है। आपको बताते चलें कि पिछले वित्‍त वर्ष में सरकार ने विनिवेश के जरिए 85,000 करोड़ रुपये जुटाए थे। 

 

Posted By: Manish Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप