नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। एयर इंडिया के विनिवेश पर पुन: गठित मंत्रियों के समूह (GoM) की अगुवाई केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह करेंगे। वहीं, सूत्रों के अनुसार, सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी अब इस पैनल में शामिल नहीं हैं। यह समिति एयर इंडिया की बिक्री के उपायों पर काम करेगी। अब इस समिति में चार सदस्‍य होंगे- अमित शाह, वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण, वाणिज्‍य एवं रेल मंत्री पीयूष गोयल और नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी। 

इस समिति का गठन पहली बार 2017 में किया गया था। उस समय इसमें पांच सदस्‍य थे जिसकी अगुवाई तत्‍कालीन वित्‍त मंत्री अरुण जेटली कर रहे थे। अन्‍य चार सदस्‍यों में तत्‍कालीन नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू, तत्‍कालीन रेल मंत्री सुरेश प्रभु, तत्‍कालीन कोयला मंत्री पीयूष गोयल और तत्‍कालीन सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी शामिल थे। इस समिति को एयर इंडिया स्‍पेसिफिक अल्‍टरनेटिव मैकेनिज्‍म (AISAM) नाम दिया गया था। 

सूत्रों के अनुसार, GoM का गठन मोदी सरकार के दोबारा सत्‍ता में आने के बाद किया गया और गडकरी अब इस समिति के सदस्‍य नहीं हैं। एक सूत्र ने पीटीआइ को बताया, 'AISAM का पुन: गठन किया गया है। अब यह चार सदस्‍यीय समिति है। पहले इसमें पांच सदस्‍य शामिल थे।'

अपने पिछले कार्यकाल में मोदी सरकार ने एयर इंडिया में सरकार की 76 फीसद हिस्‍सेदारी बेचने के लिए निवेशकों से बोलियां आमंत्रित की थीं। हालांकि, यह प्रक्रिया असफल रही क्‍योंकि निवेशकों ने बोलियां नहीं दी। सूत्रों ने बताया कि सरकार इस बार एयर इंडिया में अपनी 100 फीसद हिस्‍सेदारी बेच सकती है। दिसंबर 2019 तक इस प्रक्रिया को पूरी करने का लक्ष्‍य रखा गया है। 

 

Posted By: Manish Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप