नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। आज के समय में निवेश करना काफी अहम है क्योंकि आपकी मामूली मासिक बचत आपके वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने में सक्षम नहीं है। कार खरीदने के छोटी अवधि के लक्ष्य से लेकर रिटायरमेंट कार्पस तैयार करने के लंबी अवधि के लक्ष्य तक अपने सभी लक्ष्यों को पूरा करने के लिए लोग आमतौर पर बचत पर भरोसा करते हैं क्योंकि वो मानते हैं निवेश करना जोखिम भरा होता है।

निवेश करना बेशक जोखिमभरा है, लेकिन यह आपको बेहतर रिटर्न दे सकता है और आपकी वेल्थ को बढ़ा सकता है। हालांकि आपको इसके लिए निवेश के कुछ गोल्डन रूल्स को फॉलो करना होगा। हम अपनी इस खबर के माध्यम से ऐसी पांच गलतियों के बारे में बता रहे हैं जिन पर अगर आप गौर करेंगे और उन्हें करने से बचेंगे तो आप कम जोखिम के साथ निवेश पर बेहतर रिटर्न हासिल कर सकते हैं।

लक्ष्य रहित निवेश करना: प्रत्येक निवेशक के लिए वित्तीय लक्ष्यों के आधार पर निवेश विकल्प का चयन करना बहुत महत्वपूर्ण है। सभी तरह के निवेश विकल्प एक जैसा रिटर्न नहीं देते हैं। इसलिए निवेशकों को इसका चयन सावधानी पूर्वक करना चाहिए। हालांकि वो ऐसा तभी कर सकते हैं जब उनके पास एक स्पष्ट लक्ष्य हो। अगर निवेशक यह नहीं जानते हैं कि उन्हें अपने लक्ष्य को पाने के लिए कितना और कैसे निवेश करना है तो वो अपने निवेश विकल्प का चयन आसानी से कर पाने में सक्षम नहीं होंगे। ऐसे में वो अपना पैसा गंवा सकते हैं।

निवेश से पहले रिसर्च न करना: अक्सर निवेशक निवेश करने से पहले अच्छी रिसर्च नहीं करते हैं और वो यही बड़ी गलती करते हैं। अगर कोई आपको बेहतर रिटर्न का भरोसा दिला रहा है तो तुरंत उसकी बात पर यकीन न करें, पहले इसकी अच्छे से पड़ताल कर लें। ऐसा करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा। आपको कंपनी, फंड मैनेजर और बीते दशक में प्रोडक्ट के प्रदर्शन की जानकारी हर हाल में हासिल करनी चाहिए।

पोर्टफोलियो का छोटा होना: अगर आपका निवेश पोर्टफोलियो छोटा है तो आपके बाजार के उतार-चढ़ाव की चपेट में आने की संभावना काफी ज्यादा है। ऐसा में आप अपना पैसा भी खो सकते हैं। आमतौर पर एक्सपर्ट यह सलाह नहीं देते हैं कि आप अपना सारा पैसा एक ही एसेट्स में लगा दें। अगर किसी कारण से बाजार किसी एक खास एसेट्स के प्रदर्शन को प्रभावित करता है तो आप काफी सारा पैसा गंवा सकते हैं। हालांकि अगर आपका पोर्टफोलियो विविधतापूर्ण होता तो आप अपने नुकसान को काफी कम कर सकते हैं।

ज्यादा विविधतापूर्ण पोर्टफोलियो: अगर आपका पोर्टफोलियो कुछ ज्यादा ही विविधतापूर्ण है तो यह भी सहज स्थित नहीं है। अगर आप जोखिम कम करने के लिए अपने पोर्टफोलियो को ज्यादा विविधतापूर्ण बनाते हैं तो आप ज्यादा कुछ हासिल नहीं कर पाएंगे। आप अपने पोर्ट फोलियो में 10 से 15 एसेट्स रख सकते हैं। यह स्थिति पर्याप्त होती है।

खुद आकलन न करना: निवेश की शुरुआत करने से पहले आपको खुद अपने संभावित जोखिमों का आकलन करना चाहिए। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आप अपनी निवेश क्षमता को अच्छे से नहीं समझ पाएंगे। यह स्थिति आपको बताती है कि आप कितना जोखम उठाने में सक्षम हैं।

यह भी पढ़ें: टैक्स सेविंग से लेकर पैनकार्ड नियमों तक, 31 मार्च से पहले हर हाल में निपटाएं ये 5 काम

बुढ़ापे में नहीं सताएगी पैसों की चिंता, आपका घर दिलाएगा हर महीने निश्चित इनकम

Posted By: Praveen Dwivedi