मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। रिटायर होने की स्थिति में या रिटायर हो चुका हर व्यक्ति एक निशित आय चाहता है। रोजगार के स्थिर स्रोत के बिना वरिष्ठ नागरिक चाहते हैं कि उन्हें एक निश्चित और सुरक्षित आय मिले। मासिक आय योजनाएं (एमआईएस) बेहद सुरक्षित विकल्पों में से है इनमें मामूली जोखिम होता है, हम ऐसी ही कुछ विकल्पों के बारे में बता रहे हैं जैसे बैंक एफडी, पोस्ट ऑफिस डिपॉजिट से लेकर म्‍युचुअल फंड सिस्टेमैटिक विथड्रॉल प्लान (एसडब्ल्यूपी)। इस खबर में हम ऐसे ही कुछ विकल्पों के बारे में बता रहे हैं।

फिक्स्ड डिपॉजिट MIS

फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) मासिक आय योजनाएं हर महीने एक निश्चित ब्याज दर पर नियमित आय देने वाले विकल्पों में से एक है। स्कीम और बैंकों के आधार पर, फिक्स्ड डिपॉजिट MIS की अवधि 10 वर्ष तक होती है। इस योजना में ब्याज का भुगतान आम तौर पर मासिक पेआउट एफडी के लिए रियायती दर पर किया जाता है। इसलिए, अगर आप इस विकल्प को भी चुन सकते हैं।

म्‍युचुअल फंड एसडब्ल्यूपी

अन्य मासिक आय योजनाओं की तरह निवेशक म्‍युचुअल फंड व्यवस्थित निकासी योजनाओं (एसडब्ल्यूपी) के जरिये निश्चित आय प्राप्त कर सकते हैं। अपना निवेश शुरू करते समय ऐसे विकल्पों का चयन कर सकते हैं। ये योजनाएं नियमित और लाभांश दोनों विकल्पों के साथ आती हैं। हालांकि, लाभांश भुगतान की गारंटी नहीं है, क्योंकि इस फंड का प्रदर्शन बाजार की चाल पर निर्भर करता है। इक्विटी स्कीमों के अलावा डेट स्कीम को भी चुना जा सकता है।

डाकघर MIS

पोस्ट ऑफिस MIS केंद्र सरकार की ओर से सबसे सुरक्षित निवेश विकल्पों में से एक है। यह योजना 5 वर्ष की परिपक्वता अवधि के साथ आती है, और इसे एक व्यक्ति या 2-3 लोगों द्वारा निवेश के बराबर हिस्से के साथ खोला जा सकता है। यदि आप सिंगल अकाउंट रखते हैं, तो आप 1,500 से 4।5 लाख रुपये के बीच निवेश कर सकते हैं, जबकि जॉइंट अकाउंट के साथ 9 लाख रुपये तक के निवेश के साथ खोला जा सकता है।

 

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप