नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। अगर आप प्रॉपर्टी में निवेश करने की योजना बना रहे हैं तो यह खबर आपके लिए है। आम तौर पर लोग रेंटल इनकम या भविष्य में प्रॉपर्टी की कीमतों में होने वाले इजाफे को देखते हुए निवेश करते हैं। हालांकि, रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (REIT) के जरिए आप बिना भौतिक रूप से प्रॉपर्टी में निवेश किए उसका फायदा उठा सकते हैं। अब आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि आखिर ये REIT क्या बला है और इसके जरिए रियल एस्टेट में निवेश कैसे किया जाता है। आइए, इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

क्या होता है REIT?

REIT म्युचुअल फंडों के जैसे ही होते हैं जहां निवेशक किसी अंतर्निहित प्रतिभूति के रूप में रियल एस्टेंट में निवेश करते हैं। मतलब REIT आपके द्वारा जुटाए गए पैसों का निवेश ऐसी प्रॉपर्टीज में करते हैं जहां मुनाफे या रेंटल इनकम की संभावना सबसे अधिक होती है। हालांकि, कुछ मामलों में यह म्युचुअल फंडों से भिन्न भी होता है। वास्तव में REIT एक ट्रस्ट है जो स्पेशल पर्पस व्हीकल (SPV) के जरिए रियल एस्टेट में पैसे लगाता है। REIT में तीन इकाइयां शामिल होती हैं- स्पॉन्सर, मैनेजर और ट्रस्टीज।

REIT में निवेश के फायदे-

REIT के जरिए आप देश की कॉमर्शियल प्रॉपर्टी में निवेश कर सकते हैं। भारत में REIT को सिर्फ कॉमर्शियल प्रॉपर्टीज में ही निवेश की अनुमति मिली हुई है। इसलिए एक निवेशक के तौर पर आप देश के विभिन्न SEZ, ऑफिस, मॉल आदि में निवेश कर सकते हैं। आपको बता दें कि इस सेगमेंट में पिछले कुछ वर्षो के दौरान अच्छीे ग्रोथ देखी गई है इसलिए इससे बेहतर रिटर्न की उम्मीद की जा सकती है।

निवेश पोर्टफोलियो के डायवर्सिफिकेशन में है मददगार: जैसे आप इक्विटी, डेट या गोल्ड में अपने निवेश को डाइवर्सिफाइ करते हैं वैसे आप बिना मोटी रकम लगाए REIT में भी निवेश कर सकते हैं। विभिन्न एसेट क्लास में निवेश से आपके निवेश का जोखिम कम होता है।

कैसे करें RIET में निवेश?

REIT में निवेश के लिए आपके पास डीमैट अकाउंट होना चाहिए। हाल ही में एंबेसी REIT का आईपीओ आया था जिसमें निवेश की न्यूनतम रकम 2.4 लाख रुपये तय की गई थी। हालांकि, बाजार नियामक सेबी ने REIT में निवेश की न्यूनतम राशि 2 लाख रुपये से घटाकर 50,000 रुपये कर दिया था।

किन निवेशकों को करना चाहिए REIT में निवेश: विशेषज्ञों के अनुसार, ऐसे निवेशक जो कम से कम 3 से 5 साल की समयसीमा लेकर चल रहे हैं उन्हें REIT में निवेश पर विचार करना चाहिए। रेंटल इनकम बढ़ने के साथ ही उनके रिटर्न में भी इजाफा होता रहेगा। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Praveen Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप