नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। पब्लिक प्रोविडेंट फंड जिसे आमतौर पर PPF के नाम से जाना जाता है। यह भारत सरकार की ओर से ऑफर किया गया स्माल सेविंग फंड है। इसकी ब्याज दरें केंद्र सरकार द्वारा तीन महीने पर एक बार निर्धारित की जाती है। मौजूदा समय में इस पर 7.9% सालाना ब्याज है। पीपीएफ खाते में न्यूनतम 500 रुपये की राशि जमा की जा सकती है, जबकि अधिकतम एक वित्तीय वर्ष में 1.5 लाख रुपये तक जमा किया जा सकता है। पीपीएफ खाते पर मिलने वाले ब्याज पर आयकर नहीं देना होता है। इसे खाते को डाकघर में भी खोला जा सकता है, कुछ बैंक जैसे भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) और आईसीआईसीआई बैंक भी पीपीएफ खाता खोलने का विकल्प देते हैं। आप अकाउंट को ब्रांच में जाकर या ऑनलाइन खोल सकते हैं। अगर आप चाहें तो ऑनलाइन एसबीआई पीपीएफ खाता खोल सकते हैं।

कैसे खुलवाएं ऑनलाइन SBI PPF खाता

  • SBI ऑनलाइन खाता लॉग इन करें। 'अनुरोध और पूछताछ' टैब पर क्लिक करें।
  • जब आप मेन्यू में नीचे जाएंगे तो आपको नए पीपीएफ खाते के विकल्प पर क्लिक करना होग। जब आप इसपर क्लिक करेंगे तो यह आपसे खाते की जानकारी पूछेगा। अगर आप खाता किसी नाबालिग के लिए खोलना चाहते हैं तो आपको विकल्प में दिए गए नाबालिग के लिए खाता खोलें इस पर क्लिक करना होगा।
  • अब आप नाबालिग के बारे में जानकारी भरें, जैसे नाम, उम्र इसके अलावा आपका नाबालिग के साथ क्या रिश्ता है।
  • अगर आप नाबालिग के नाम से खाता नहीं खोलना चाहते हैं तो आपको उस ब्रांच का कोड भरना होगा जिसमें आप अपना PPF खाता खोलना चाहते हैं।
  •  ब्रांच कोड डालने के बाद आपको नॉमिनी का नाम बताने के लिए कहा जाएगा। PPF खाते के लिए आप अधिकतम पांच नॉमिनी जोड़े सकते हैं।
  • सबमिट करने के बाद एक डायलॉग बॉक्स दिखाई देगा जिसमें लिखा होगा, 'आपका फॉर्म सफलतापूर्वक सबमिट हो गया है'। इसमें रेफरेंस नंबर भी होगा।
  •  अब आपको दिए गए रेफेरंस संख्या के साथ फॉर्म डाउनलोड करना होगा।
  •  फॉर्म डाउनलोड करने के बाद आपको केवाईसी दस्तावेजों के साथ फॉर्म को प्रिंट करके भरना होगा और 30 दिनों के भीतर ब्रांच में जमा करना होगा।

पीपीएफ अकाउंट की अवधि

पीपीएफ अकाउंट की अवधि मुख्य रूप से 15 साल की है। इसके बाद अगर आप अवधि बढ़वाना चाहते हैं, तो आवेदन करके 5 साल के एक या अधिक ब्लॉक्स के लिए योजना की अवधि बढ़ाई जा सकती

अगर समय से पहले करते हैं निकासी

इस योजना में कुछ शर्तों के साथ आपको पांच साल की अवधि पूरी करनी होगी, फिर आपको निकासी की अनुमति होगी। यह सुविधा नाबालिगों के अकाउंट पर भी लागू है।

खाते का ट्रांसफर

अगर कोई ग्राहक अपने खाते का ट्रांसफर करवाना चाहता है तो वह SBI के अन्य ब्रांच अथवा डाकघरों में खाते को ट्रांसफर किया जा सकता है। 

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप