नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। HDFC, Bajaj Finance और Mahindra Finance जैसी टॉप रेटेड फाइनेंस कंपनियों के फिक्स्ड डिपॉजिट की इन दिनों मांग बढ़ गई है। क्योंकि निवेशक डेट म्यूचुअल फंड्स से दूरी बना रहे हैं। 

मई से 20-40 बेसिस प्वाइंट्स (BPS) पर ब्याज दरों में कटौती के बाद भी निवेशक बेहतर रिटर्न और विभिन्न डेट म्यूचुअल फंड उत्पादों की तुलना में सुरक्षा की दृष्टि से और इक्विटी के लिए इन डिपॉजिट्स की ओर रुख कर रहे हैं।

Mahindra Finance और Bajaj Finance 5 साल की एफडी पर 7.8% और 7.6% की दर से ब्याज ऑफर कर रहे हैं। HDFC 7.1% की दर से ये सुविधा दे रहा है। वितरकों का कहना है कि छोटी बचत जमा दरों में 100 BPS की कटौती के सरकार के कदम के बाद इन कंपनियों ने अपनी दरें कम कर दी हैं।

निवेशक कंपनी जमा की ओर रुख कर रहे हैं क्योंकि वे बैंक जमा की तुलना में लगभग 160-190 BPS का भुगतान करते हैं। भारतीय स्टेट बैंक जमा पर 5.7% का ऑफ़र दे रहा है। HDFC बैंक और ICICI बैंक 6% की दर दे रहे हैं। हालांकि गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों को मौजूदा मंदी के दौर में नियमित बैंकों की तुलना में अधिक असुरक्षित देखा जा रहा है, लेकिन निवेशक उन फर्मों के बारे में आश्वस्त रहते हैं जो बड़े और स्वामित्व वाली कंपनियों के पास हैं।

Posted By: Nitesh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस