नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। म्युचुअल फंड पैसे को ग्रोथ देने का स्मार्ट निवेश माध्यम है, जिससे पैसा सामान्य निवेश के मुकाबले अधिक तेजी के साथ बढ़ता है। सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) को म्युचुअल फंड में निवेश का सबसे आसान तरीका माना जाता है। इसके जरिए निवेशक नियमित रूप से एक निश्चित राशि को निवेश कर पाते हैं। वैसे म्युचुअल फंड कैसे काम करता है, इसके बारे में जानना जरूरी है। म्युचुअल फंड निवेशकों को इन 5 गलतियों को करने से हमेशा बचना चाहिए।

बिना लक्ष्य के निवेश करना: निवेश करने से पहले अपने लक्ष्यों को तय करना बहुत ज्यादा जरूरी है। निवेश के लिए बजट, कार्यकाल और फायदों को ध्यान में रखना जरूरी है। निवेश से पहले ये तय कर लें कि आप किस लक्ष्य के लिए निवेश कर रहे हैं जैसे कि बच्चे की शिक्षा या बेटी की शादी को हमेशा ध्यान में रखकर ही निवेश करें। उद्देश्य पहले से तय होगा तो निवेश में नुकसान की संभावना कम रहेगी।

अच्छे रिटर्न देखकर निवेश करना: हमेशा पुराने या ऐतिहासिक रिटर्न के आधार पर निवेश स्कीम का चयन नहीं करना चाहिए। निवेश करने का ये तरीका ठीक नहीं है इसके लिए पहले आपको यह समझना है कि म्युचुअल फंड स्कीम काम कैसे करती हैं।

अधिक स्कीम में निवेश करना: बहुत से निवेशक ये गलती करते हैं। कई स्कीम में निवेश करके ये नहीं ध्यान रख पाते हैं कि कौन सी स्कीम कितना ग्रोथ कर रही है। सभी स्कीम के बारे में पूरी जानकारी रखना जरूरी है, इससे ये पता चलता है कि कौन सी स्कीम नुकसान में है और कौन सी फायदे में है।

एक साथ मोटी रकम निवेश करना: कभी भी एक साथ मोटी रकम निवेश नहीं करनी चाहिए। अपने पास हमेशा आपातकाल की स्थिति के लिए धन रखना चाहिए और उसके बाद ही निवेश करना चाहिए। पहले आपके पास आपातकाल स्थिति में खर्च के लिए कम से कम 8 से 9 माह के लिए धन होना चाहिए।

निवेश की समीक्षा जरूरी है: पैसा निवेश करने के बाद उसका नियमित रूप से ट्रैक रखना जरूरी है। समय-समय पर अपनी स्कीम के प्रदर्शन की समीक्षा करनी चाहिए। जब आपको लगता है कि आपकी ये स्कीम ठीक प्रदर्शन नहीं कर रही है तो उसमें से पैसा हटा लेना चाहिए।

Posted By: Sajan Chauhan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप