नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। Indian Railways के कर्मचारियों के प्रमोशन का रास्‍ता साफ हो गया है। रेल मंत्रालय ने कहा है कि जिन लोगों का प्रमोशन रुका है, उन्‍हें तत्‍काल प्रमोट किया जाए। उनका नाम चुनकर विभाग को भेजा जाए ताकि उनका Promotion और Increment हो सके। रेलवे ने कहा कि जिन लोगों को 30 जून 2021 से पहले प्रमोशन मिल गया है, उन्‍हें 1 जनवरी 2022 से Annual Increment मिलेगा। अगर प्रमोशन में देर होगी तो Increment का बेनिफिट भी टाइम पर नहीं मिल पाएगा।

बता दें कि रेलवे कर्मचारियों की यूनियन NFIR ने यह मुद्दा रेल मंत्रालय के सामने उठाया था। NFIR ने कहा था कि Zonal Railways और Production units में कई ऐसी पोस्‍ट है, जो प्रमोशन न होने के कारण खाली पड़ी हैं। इससे रेल कर्मचारियों को समय पर सारे बेनिफिट नहीं मिल पा रहे हैं।

दो साल में सबसे ज्‍यादा प्रमोशन

एसोसिएशन के इस लेटर पर रेल मिनिस्‍ट्री ने संज्ञान लिया और आदेश जारी किया कि जो कर्मचारी प्रमोशन से छूट गए हैं, उन्‍हें इसका फायदा जल्‍द से जल्‍द दिया जाए। अप्रैल 2021 में हुई मीटिंग में यह बात सामने आई थी कि Covid के बावजूद रेलवे ने बीते दो साल में सबसे ज्‍यादा प्रमोशन दिए। हालांकि अगर कुछ लोग छूट गए हैं तो उसकी समीक्षा कर नाम भेजे जाएं।

महंगाई भत्‍ते का रास्‍ता साफ

रेल कर्मचारियों के लिए इससे पहले एक और बड़ी खबर आई थी। वह यह कि सरकार केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्‍ते (Dearness Allowance, DA) और महंगाई राहत (Dearness relief) में बढ़ोतरी पर लगी रोक हटाने के लिए राजी हो गई है। इससे केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स (Pensioners) को सितंबर की सैलरी में बढ़ा हुए DA मिलेगा। National council (Staff side) ने इस संदर्भ में एक लेटर भी जारी किया है।

28 प्‍वाइंट पर हुआ था डिस्‍कशन

एनसी/JCM के कर्मचारी पक्ष के सचिव शिव गोपाल मिश्र की ओर से जारी लेटर में बताया गया है कि 26 जून 2021 को कैबिनेट सचिव के साथ मीटिंग में केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों के हित में कई बड़े फैसले हुए। इनमें डेढ़ साल फ्रीज DA को फिर शुरू बढ़ाने पर भी चर्चा हुई। कुल मिलाकर 28 मुद्दों पर कैबिनेट सचिव से बातचीत हुई है।

Edited By: Ashish Deep