नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने अमेरिका और चीन के बीच छिड़े ट्रेड वार पर चिंता जाहिर की है और कहा है कि अगर दुनिया की इन दोनों अर्थव्यवस्था ने अपनी धमकियों पर अमल किया तो यह सभी के लिए नुकसानदायक होगी।

उन्होंने एक इंटरव्यू में आगाह किया है कि यह स्थिति जल्दी ही नियंत्रण से बाहर हो सकती है और इससे ग्लोबल विकास प्रभावित हो सकता है। अमेरिकी प्रशासन द्वारा एल्युमीनियम और स्टील पर आयात शुल्क लगाया। इसके बाद चीन समेत कई देशों के साथ ट्रेड वार शुरू हो रहा है क्योंकि ये देश भी जवाबी शुल्क लगा रहे हैं। राजन ने कहा कि इस समय सबसे बड़ा खतरा ब्याज दर बढ़ने और व्यापार के मामले में अनपेक्षित कार्रवाई किए जाने का है। उन्होंने कहा कि अगर कारोबार को लेकर विभिन्न देशों के बीच तनाव बढ़ता है तो ग्लोबल अर्थव्यवस्था की रफ्तार प्रभावित होगी और कारोबारी अनिश्चितता भी पैदा होगी।

उन्होंने कहा कि यह बड़ा सवाल है कि अगर देश धमकियां देकर व्यापार वार्ता में सौदेबाजी करते हैं तो सभी के लिए फायदे की बात होगी लेकिन उन्होंने अपनी बात पर अडिग होकर धमकियों को अंजाम देना शुरू कर दिया तो सभी के लिए नुकसान होगा। गौरतलब है कि ट्रंप प्रशासन ने स्टील पर 25 फीसद और एल्युमिनियम पर 10 फीसद आयात शुल्क लगाने का फैसला किया था जिसका विरोध काफी सारे देश कर रहे हैं जिसमें यूरोपीय यूनियन के भी कुछ देश शामिल हैं।  

Posted By: Praveen Dwivedi