नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। केंद्र सरकार ने कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन को मुख्य आर्थिक सलाहकार के पद पर नियुक्त किया है। उनका कार्यकाल तीन सालों के लिए होगा।

पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन के अगस्त में कार्यकाल खत्म होने के बाद से यह पद खाली था। सुब्रमण्यन भारत के टॉप बिजनेस स्कूल इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस में पढ़ाते हैं।

अरविंद सुब्रमण्यन को पहले तीन सालों के लिए देश का मुख्य आर्थिक सलाहकार बनाया गया था। इसके बाद उन्हें 12 महीनों का सेवा विस्तार दिया गया था, जो अगस्त में खत्म हो गया।

नए आर्थिक सलाहकार की नियुक्ति के लिए केंद्र सराकर ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर बिमल जालान के नेतृत्व में सर्च कमिटी का गठन किया था।

सुब्रमण्यन वैकल्पिक निवेश नीति के मामले पर गठित सेबी की समिति के सदस्य रह चुके हैं। इसके साथ ही वह बंधन बैंक, नैशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बैंक मैनेजमेंट और आरबीआई एकेडमी के बोर्ड में शामिल हैं।

गौरतलब है कि इस पद पर नियुक्ति के लिए पूनम गुप्ता के साथ अलावा साजिद चिनॉय और सुब्रमण्यन के नाम को लेकर भी अकटलें लगाई जा रही थीं। गुप्ता विश्व बैंक में अर्थशास्त्री हैं।

यह भी पढ़ें: भारतीयों की कुल निजी संपत्ति के FY23 तक 517.88 लाख करोड़ पहुंचने की उम्मीद: रिपोर्ट

Posted By: Abhishek Parashar