नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। आयकर विभाग ने वित्त वर्ष 2017-18 के आयकर आंकड़ों को सार्वजनिक कर दिया है। विभाग की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक वित्त वर्ष 2017-18 में आयकर और जीडीपी का अनुपात 5.98 फीसद रहा है, जो पिछले 10 सालों के दौरान का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन है।

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने कहा कि पिछले चार सालों के दौरान टैक्स रिटर्न फाइल करने वालों की संख्या में 80 फीसद का इजाफा हुआ है।

उन्होंने कहा, ‘वित्त वर्ष 2013-14 में रिटर्न भरने वालों की संख्या 3.79 करोड़ थी जो वित्त वर्ष 2017-18 में बढ़कर 6.85 करोड़ हो गई।’

इसके साथ ही एक करोड़ रुपये से अधिक आय वाले करदाताओं की संख्या में भी भारी इजाफा हुआ है। चंद्रा ने कहा कि एक करोड़ रुपये से अधिक की आमदनी वाले लोगों की संख्या में 60 फीसद का इजाफा हुआ है।

गौरतलब है कि वित्त मंत्रालय ने चालू वित्त वर्ष के दौरान आयकर का भुगतान करने वाले सभी व्यक्तियों के लिए रिटर्न फाइल करना अनिवार्य कर दिया है। सरकार ने हाल ही में रिटर्न दाखिल करने की डेडलाइन को बढ़ाकर 31 अक्टूबर कर दिया है।

यह भी पढ़ें: और टूटेगा रुपया, 2018 के अंत तक 76.50 तक टूट सकती है भारतीय करेंसी!

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस