नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने फिक्स्ड डिपोजिट (एफडी) पर ब्याज दर में पिछले 15 दिन में दूसरी बार कटौती की है। स्टेट बैंक ने एफडी जमा पर ब्याज दर में 0.20 से 0.25 फीसद की कमी की है। वहीं, बैंक ने सभी अवधि के ऋण पर एमसीएलआर में भी 0.10 फीसद की कटौती की है। बैंक ने जानकारी दी है कि संशोधित दरें 10 सितंबर, 2019 से प्रभावी होंगी। हालांकि, सात दिन से 45 दिन और 46 दिन से 179 दिन में मैच्योर होने वाली एफडी पर ब्याज दर को क्रमशः 4.50 फीसद और 5.50 फीसद पर अपरिवर्तित रखा गया है।

एसबीआई ने 180 दिन से एक साल की अवधि में परिपक्व होने वाली एफडी पर ब्याज दर में 0.20 फीसद की कटौती की है। इस अवधि की सावधि जमा (एफडी) पर अब 5.80 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा।

देश के सबसे बड़े बैंक ने एक साल से लेकर दो साल से कम अवधि तक की एफडी पर ब्याज दर में 0.20 फीसद की कमी की है। अब दस सितंबर, 2019 से इस अवधि की एफडी पर 6.70 फीसद की बजाय 6.50 फीसद का ब्याज मिलेगा।

बैंक ने दो साल से लेकर तीन साल से कम अवधि तक की सावधि जमा पर मिलने वाले ब्याज में 0.25 फीसद की कटौती की है। अब इस अवधि की एफडी पर 6.25 फीसद का ब्याज मिलेगा।

वहीं, बैंक ने लंबी अवधि के एफडी पर ब्याज की दर को अपरिवर्तित रखा है। बैंक के ग्राहकों को तीन से पांच साल तक एवं पांच साल से दस साल तक की सावधि जमा पर 6.25 फीसद का ब्याज मिलना जारी रहेगा।

आइए जानते हैं दो करोड़ रुपये तक की राशि पर विभिन्न अवधि की एफडी पर अब कितना मिलेगा ब्याजः
7 दिन से 45 दिन- 4.50%
46 दिन से 179 दिन- 5.50%
180 दिन से 210 दिन- 5.80%
211 दिन से एक वर्ष तक- 5.80%
एक वर्ष से लेकर दो वर्ष तक- 6.50%
दो वर्ष से लेकर तीन वर्ष तक- 6.25%
तीन वर्ष से लेकर पांच वर्ष तक- 6.25%
पांच वर्ष से लेकर 10 वर्ष तक- 6.25%

वरिष्ठ नागरिकों को दो करोड़ रुपये तक की राशि पर विभिन्न अवधि तक मिलने वाली ब्याज की दर इस प्रकार हैः
सात दिन से 45 दिन- 5.00%
46 दिन से 179 दिन- 6%
180 दिन से 210 दिन- 6.3%
211 दिन से 1 वर्ष तक- 6.3%
एक वर्ष से दो वर्ष तक- 7%
दो वर्ष से तीन वर्ष तक- 6.75%
3 वर्ष से 5 वर्ष तक- 6.75%
5 वर्ष से 10 वर्ष तक- 6.75%

इसके साथ ही बैंक ने सभी अवधि के ऋण पर मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ट लेंडिंग रेट (एमसीएलआर) में 0.10 फीसद की कमी की है। यह कटौती भी दस सितंबर, 2019 से प्रभावी होगी। उल्लेखनीय है कि बैंक ने वित्त वर्ष 2019-20 में पांचवीं बार एमसीएलआर में कटौती की है। इस तरह एक साल तक के ऋण पर अब 8.25 फीसद की बजाय 8.15 फीसद का ब्याज लगेगा।

Posted By: Pawan Jayaswal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप