नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। मौजूदा समय में त्योहारी सीजन चल रहा है। ऐसे में आप में से कई सारे लोग ऐसे होंगे, जो सोना खरीदने के बारे में सोच रहे होंगे। अगर आप इस त्योहारी सीजन में सोना खरीदने के बारे में सोच रहे हैं, तो आप डिजिटल गोल्ड की खरीदारी कर सकते हैं। अगर आप डिजिटल गोल्ड खरीदते हैं तो इस पर आपको कई तरह के लाभ भी मिलते हैं। आइए जानते हैं, डिजिटल गोल्ड और इसके फायदों के बारे में।

क्या है डिजिटल गोल्ड

जो भी सोना हम डिजिटल माध्यम में खरीदते हैं, उसे ही डिजिटल गोल्ड कहा जाता है। डिजिटल गोल्ड के तहत कम से कम 1 ग्राम और ज्यादा से ज्यादा 4 किलो तक सोना खरीदा जा सकता है।

निवेश

आप डिजिटल सोने में, बेहद ही कम मात्रा में निवेश कर सकते हैं। आप डिजिटल गोल्ड में कम से कम 1 ग्राम तक सोना खरीद सकते हैं। आप इसमें वजन या निश्चित रकम के मुताबिक सोना खरीद या बेच सकते हैं। हालांकि, आप सीधे तौर पर डिजिटल गोल्ड को नहीं खरीद सकते हैं। डिजिटल गोल्ड को खरीदने के लिए आपको अधिकृत थर्ड पार्टी से संपर्क करना पड़ता है। जब आप डिजिटल गोल्ड के लिए ऑर्डर देते हैं और अपनी तरफ से उसे तिजोरी में रखते हैं, तो एजेंट आपके के लिए उतनी ही मात्रा में गोल्ड को खरीदता है। आप इसी प्रक्रिया के तहत डिजिटल गोल्ड को बेच भी सकते हैं। एजेंट मार्केट वैल्यू पर सोना बेचता है और मिलने वाली रकम को निवेशक के अकाउंट में जमा करता है।

स्टोरेज

आपको डिजिटल गोल्ड में इंवेस्ट करते वक्त कोई भी स्टोरेज या वहन लागत के बारे में सोचने की जरूरत नहीं है। क्योंकि इसके तहत कोई भी स्टोरेज या वहन लागत नहीं लगती है। डिजिटल गोल्ड में निवेशकों को सोने की सुरक्षा के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं पड़ी है। क्योंकि डिजिटल गोल्ड को ट्रेडिंग कंपनियों की तरफ सुरक्षित तिजोरी में रखा जाता है।

टैक्स

आपको तीन साल से कम समय के लिए सोने के इंवेस्टमेंट पर होने वाले फायदे पर, इनकम टैक्स स्लैब के हिसाब से कर देना होता है। तीन साल से ज्यादा की इनवेस्टमेंट विदहोल्डिंग के लिए, निवेशक को इंडेक्सेशन फायदे के साथ 20 फीसद का कर देना पड़ता है। वहीं डिजिटल सोने पर, तीन साल से कम समय के लिए निवेश किए गए सोने से होने वाले फायदे पर आपको आयकर स्लैब के हिसाब से टैक्स देना होगा। तीन साल से ज्यादा की निवेश विदहोल्डिंग के लिए, इंडेक्सेशन के फायदे के साथ 20 फीसद का कर देना होगा।

Edited By: Abhishek Poddar