नई दिल्‍ली, आइएएनएस। Cryptocurrency Market लगभग तीन महीनों में पहली बार 2 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच गया है। जानकारों के मुताबिक मार्केट कैप (Cryptocurrency Market cap) में वृद्धि दुनिया भर में क्रिप्टो संपत्ति की व्यापक स्वीकृति को इंगित करती है, जिसमें भारत शामिल हैं।

बिटकॉइन ने एक बार फिर 46,000 डॉलर (एकल सिक्के के लिए 34 लाख रुपये से ज्‍यादा) का आंकड़ा पार कर लिया है। Coin मार्केट कैप के अनुसार, सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी 848 बिलियन डॉलर से अधिक के मार्केट कैप के साथ हरे रंग में कारोबार कर रही है।

बाईकॉइन के सीईओ शिवम ठकराल ने कहा, दुनिया की सबसे पुरानी क्रिप्टोकरेंसी, बिटकॉइन में हाल ही में एक शानदार रैली देखी गई है और नवीनतम एथेरियम अपग्रेड, जिसे लंदन हार्ड फोर्क के रूप में भी जाना जाता है, उसने ईथर की कीमत को बढ़ाया है।

क्रिप्टो संपत्तियां दुनिया भर के कई ब्रांडों के साथ क्रिप्टोक्यूरेंसी को भुगतान के रूप में स्वीकार करने के साथ मुख्यधारा बनने की ओर बढ़ रही हैं। ठकराल ने एक बयान में कहा, मौजूदा बुल मार्केट जारी रहने की उम्मीद है, और हम अत्यधिक आशावादी हैं कि बिटकॉइन इस साल के अंत तक 100,000 डॉलर तक पहुंच जाएगा।

भारत में, क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज वजीरएक्स (WazirX) ने देश के टियर 2 और 3 शहरों से उपयोगकर्ता साइनअप में बड़े पैमाने पर 2,648 प्रतिशत की वृद्धि देखी है, जो अपने शहरी समकक्षों की तुलना में छोटे शहरों की महिलाओं की उच्च भागीदारी को देखते हुए है।

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज में वर्तमान में 7.3 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता हैं और अब तक 2021 में ट्रेडिंग वॉल्यूम में 21.8 बिलियन डॉलर से अधिक हो गया हैं।

वजीरएक्स के सीईओ निश्चल शेट्टी ने कहा, क्रिप्टो में ग्रामीण भारत के लिए वित्तीय बाधाओं को दूर करने और पूंजी तक सस्ती पहुंच, अधिक ऑनलाइन नौकरियां प्रदान करने की अपार संभावनाएं हैं।

1.5 करोड़ से अधिक भारतीयों के पास 1,500 करोड़ रुपये से अधिक की क्रिप्टो संपत्ति है। उद्योग के विशेषज्ञों के अनुसार, क्रिप्टो 21वीं सदी का सबसे महत्वपूर्ण परिसंपत्ति वर्ग बन सकता है।

Edited By: Ashish Deep