नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। अपना फाइनेंशियल गोल पूरा करने के लिए निवेश करना काफी जरूरी होता है। अपने गोल के हिसाब से आप कम अवधि के लिए या लंबी अवधि के लिए निवेश कर सकते हैं। हमेशा याद रखें कि अपनी जरूरतों, फाइनेंशियल गोल और आर्थिक स्थिति के अनुसार ही निवेश के विकल्पों का चयन करें। बिना सोचे-समझे किया गया निवेश आप पर भारी भी पड़ सकता है। आज हम आपको निवेश से जुड़ी कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं, जिनका ध्यान रख आप अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं।

एफडी है सबसे सेफ

फिक्स्ड डिपॉजिट यानी एफडी आपकी पूंजी को सुरक्षा, इंस्टटेंट लिक्विडिटी (आसानी से पैसों की निकासी) और रिटर्न का आश्वासन प्रदान करती है। यही कारण है कि अधिकांश भारतीय एफडी पर अपना भरोसा जताते हैं। हालांकि, पिछले महीनों में आरबीआई द्वारा रेपो रेट में कटौती किये जाने के बाद से एफडी पर ब्याज दरों में कमी आ रही है। इसके बावजूद आज भी एफडी देश के अधिकांश परिवारों में लोकप्रिय ही नहीं हैं, बल्कि उनकी आवश्यकता भी बन गई है।

कम अवधि के लिए अच्छे हैं लिक्विड म्युचुअल फंड्स

म्युचुअल फंड्स में अगर हम सबसे सेफ निवेश की बात करें, तो वह है लिक्विड फंड्स माने जाते हैं। ये एक तरह के डेट फंड्स होते हैं जिनमें कम समय के लिए निवेश किया जाता है। इनका रिटर्न फिक्स्ड डिपॉजिट के बराबर या कभी-कभी उससे ज्यादा भी होता है। पिछले एक साल में लिक्विड फंड्स के लिए कैटेगरी रिटर्न करीब 6.72 फीसद रहा है। वहीं, पांच सालों का रिटर्न 7.30 फीसद सालाना रहा है।

प्राइवेट और स्मॉल बैंक

अगर एफडी पर ब्याज दरों की बात करें, तो पब्लिक सेक्टर के बैंकों की तुलना में प्राइवेट सेक्टर के बैंक अधिक ब्याज देते हैं। पब्लिक सेक्टर में इस समय सभी अवधियों के लिए दरें 5.5 से 7 फीसद के बीच है। वहीं, प्राइवेट बैंकों में दरें 6.5 से 7.85 फीसद के बीच हैं। इससे इतर चुनिंदा स्मॉल बैंक्स 7.5 से 9 फीसद तक भी ब्याज दरों की पेशकश कर रहे हैं।

पांच सालों के लिए एनएससी को चुनें

ग्राहक सरकार से नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट भी खरीद सकते हैं, जो कि एक स्मॉल सेविंग स्कीम है। यह इस समय धारा 80 सी के तहत टैक्स में छूट के साथ ही सालाना 7.9 फीसद की दर से रिटर्न दे रही है। इस योजना में आपका रिटर्न हर साल निवेश में जुड़ जाता है, जो कि आपको धारा 80 सी के तहत अतिरिक्त छूट दिलाता है। योजना में ग्राहक को रिटर्न पांच साल पूरे होने के बाद मिलता है, उस समय रिटर्न कर योग्य होता है।

लंबे समय के लिए करना है निवेश, तो चुनें PPF

पीपीएफ यानी पब्लिक प्रोविडेंट फंड एक 15 साल की सरकारी इन्वेस्टमेंट स्कीम है। यह डेट इन्वेस्टमेंट के लिए एक बेस्ट ऑप्शन है। वर्तमान में यह 7.9 फीसद के सालाना रिटर्न की पेशकश कर रही है, जो कि पूरी तरह कर मुक्त होगा। लंबे समय के निवेश के लिए पीपीएफ काफी अच्छा विकल्प है। इस योजना में आप छह सालों के बाद आंशिक निकासी कर सकते हैं। अगर आपको पैसों की निकासी की ज्यादा जरूरत नहीं हैं, तो आप इस योजना में निवेश कर सकते हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस