नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों की वजह से लोग शादियां कैंसिल कराने लगे हैं। भारत में ओमिक्रॉन के मामले दिन-प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। कई देशों में फिर से लॉकडाउन की स्थिति बन गई है। एक्सपर्ट बता रहे हैं कि देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर आ सकती है। महामारी तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार के साथ-साथ राज्य सरकारों ने भी सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। शादियों में अब 200 लोगों को ही शामिल होने की इजाजत है। दिल्ली की बात करें तो राजधानी में येलो अलर्ट जारी किया गया है, जिसके तहत अब दिल्ली में शादी या किसी तरह के फंक्शन में 20 से ज्यादा लोग इकट्ठे नहीं हो सकते हैं। ऐसे में जिन लोगों ने जनवरी, फरवरी में शादियों की बुकिंग कर रखी है, उन लोगों की टेंशन बढ़ गई है। अगर आप कोरोना के दौरान शादी कैंसिल कराते हैं तो आपको 10 लाख का फायदा मिल सकता है। देश में कई इंश्योरेंस कंपनियां हैं जो वेडिंग इंश्योरेंस देती हैं।

किस पर मिलता है इंश्योरेंस

इंश्योरेंस सेक्टर के एक्सपर्ट अखिल महाजन बताते हैं,  कंपनियां शादी के लिए पहले से पैकेज तैयार करके रखती हैं। वहीं, कुछ कंपनियां जरूरत के हिसाब से भी पैकेज ऑफर करती हैं। ये कंपनियां शादी के लिए बुक किए हुए किसी हॉल या रिसॉर्ट के एडवांस पैसे, ट्रैवल एजेंसियों को दिया गया एडवांस, होटल की एडवांस बुकिंग पेमेंट, सजावट और म्यूजिक के लिए, शादी के वेन्यू सेट से लेकर शादी के कार्ड छपने पर दी गई पेमेंट पर इंश्योरेंस मुहैया कराती है। भारत में एचडीएफसी अर्गो, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड, बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस जैसी कंपनियां वेडिंग इंश्योरेंस कराती हैं। उन्होंने कहा कि इंश्योरेंस लेने फायदा है, क्योंकि अनिश्चितता के माहौल में इंश्योरेंस के बाद आदमी बेफिक्र रहता है। 

शादी की तारीख बदलने पर दावा क्लेम किया जा सकता है। इसमें आपके इंश्योर्ड राशी से सिर्फ 0.7 फीसद से लेकर 2 फीसद तक ही प्रीमियम लगता है। अगर 10 लाख रुपये का वेडिंग इंश्योरेंस है तो 7,500 से 15,000 रुपये तक का प्रीमियम भरना होगा।

HDFC ERGO में क्या है शामिल

चक्रवात, बाढ़ या आग के कारण आयोजन स्थल को नुकसान

दूल्हा, दुलहन, या परिवार के तत्काल सदस्य की किसी बड़ी दुर्घटना के कारण कैंसिलेशन

चोरी, जिसमें पैसे और अन्य कीमती सामान शामिल हैं

किसी तीसरे पक्ष के व्यक्ति या संपत्ति को शारीरिक चोट या बीमारी से उत्पन्न होने वाली किसी भी कानूनी देयता का भी बीमा किया जा सकता है

(ज्यादा जानकारी के लिए आप HDFC ERGO की वेबसाइट पर जा सकते हैं)

icicilombard पर भी जाकर आप इंश्योरेंस से जुड़ी हर जानकारी ले सकते हैं।

अमूमन किस पर मिलता है इंश्‍योरेंस

ट्रैवल एजेंसियों को दिया गया एडवांस पैसा।

केटरर को दिए गए एडवांस पर।

बुक किए हुए किसी हॉल या रिसॉर्ट के एडवांस पैसे।

सजावट और म्यूजिक के लिए दिए गए पैसे।

शादी के कार्ड छपने पर दिए गए पैसे।

कितना मिलेगा पैसा

Wedding Insurance का सम एश्‍योर्ड इस बात पर निर्भर करता है कि आपने कितने का बीमा कराया है।

देना होगा खर्च का ब्यौरा, जानकारियां भी शामिल

इंश्योरेंस लेने से पहले आपको शादी के खर्च की सारी जानकारी इंश्योरेंस कंपनी को देनी होती है।

नुकसान होने पर इंश्योरेंस कंपनी को तुरंत इसकी सूचना दें।

चोरी की स्थिति में पुलिस को इसकी जानकारी दें एफआईआर की कॉपी इंश्योरेंस कंपनी को सौंपे।

क्लेम करने के लिए फॉर्म भरें सभी कागजात कंपनी में एक साथ जमा करें।

गलत जानकारी पर क्लेम रिजेक्ट हो जाएगा।

Edited By: Nitesh