हममें से सभी के लिए आजीवन पैसा कमाना संभव न हो। लेकिन हमें अपने जीवन संबंधी खर्चों के लिए आजीवन पैसे की जरूरत होती है। पैसों के लिए योजना बनाना जरूरी है ताकि हमारा खुद का और हमारे प्रियजनों का जीवन सुविधापूर्वक चल सके। सबसे बेहतर बात यह है कि इसकी योजना बनाना भी बहुत मुश्किल काम नहीं है।

क्यों है बीमा की जरूरत? संभव है कि अपनी मौजूदा जरूरतों के हिसाब से पर्याप्त मात्रा में आमदनी अर्जित कर रहे हों। आपके पास कुछ बचत भी होगी जिसे फिक्स्ड डिपॉजिट, शेयर और अचल संपत्ति में निवेश कर रहे होंगे। क्या आपने विचार किया है कि आपके ये सभी आर्थिक निवेश अल्प अवधि के हैं? क्या इस पर विचार किया है कि आमदनी देने वाले तीस पैंतीस वर्षों से रिटायरमेंट के बाद के पच्चीस तीस वर्ष का काम चल जाएगा? पहले लोग रिटायरमेंट के बाद के जीवन के लिए अपने बच्चों पर भरोसा कर लेते थे। लेकिन एकल परिवार और बढ़ती महंगाई के कारण यह लगातार कठिन होता जा रहा है। इसलिए रिटायरमेंट के बाद के जीवन के लिए अभी से अपने स्तर पर हमें योजना बनाने की जरूरत है।

क्या आपने आर्थिक अनिश्चितता से अपने परिवार की सुरक्षा का इंतजाम कर लिया है। सबसे बढ़िया योजना भी नाकाम हो सकती है। हर किसी को एक आकस्मिक योजना अवश्य बनानी चाहिए। आपको यह समझाना आवश्यक है कि आपने जो निवेश किया है उनसे केवल वृद्धिशील रिटर्न ही मिल सकता है। ऐसी स्थिति में किसी दुर्भाग्यपूर्ण घटना के वक्त परिवार के लिए आप अपनी कमाई का वर्तमान स्तर कैसे बहाल रख पाएंगे? इन परिस्थितियों में यह जानना भी आवश्यक है कि क्या आपने बच्चों की शिक्षा, विवाह और घर आदि जैसे बड़े खर्चों के लिए इंतजाम कर लिया है?

क्या आप व्यवस्थित ढंग से इतना पैसा बचा लेते हैं जिससे दस पंद्रह वर्षों में इन जरूरतों के लिए धन एकत्रित हो जाए? जीवन बीमा योजनाओं से अनेक फायदे होते हैं जो आकस्मिक स्थिति में आपके काम आते हैं।

क्या आर्थिक स्वरूप का ज्ञान है?

अपने भविष्य की वित्तीय योजना तैयार करने के लिए अपने आर्थिक स्वरूप और विशिष्टता को समझना बेहद जरूरी है। क्या आपकी आमदनी अनियमित है या आपके पास निरंतर पुर्वानुमानित आमदनी का स्रोत है?

क्या आप व्यवस्थित ढंग से बचत करते हैं या महीने के अंत में जेब खाली हो जाती है? क्या आपको इक्विटी और ऋण बाजार की बढ़िया समझ है और क्या आप अपने धन को कारगर ढंग से व्यवस्थित करते हैं या आपके पास समय समय पर छानबीन करने, समझने और निर्णय करने के लिए समय और इच्छा की कमी है?

आप अपनी जरूरतों को कैसे चिन्हित करते हैं?

निम्नलिखित साधारण प्रश्नों से आपको अपनी आर्थिक जरूरतें चिन्हित करने में आसानी होगी?

’आपके पास कितने आश्रित हैं?

’आपके संभावित बड़े खर्च क्या हैं? घर खरीदना? बच्चों की शिक्षा के लिए पैसों का इंतजाम करना? बच्चे की शादी का इंतजाम करना? वृद्ध माता-पिता के लिए इंतजाम करना?

’आप किस आयु में रिटायरमेंट की उम्मीद करते हैं?

’क्या रिटायरमेंट के बाद के खर्चों के लिए आप अलग से पैसे रख रहे हैं? अपनी वर्तमान जीवन शैली बरकरार रखने के लिए कितने मासिक खर्च की उम्मीद करते हैं?

’क्या किसी अप्रत्याशित चिकित्सकीय खर्च के लिए आपके पास आकस्मिक राशि है?

अब मैंने आपको कुछ सवाल दे दिए हैं। मैं चाहूंगी कि आप इन पर सोचें और अपनी विशिष्ट अवस्था व जरूरतों पर गौर करें और समझने की कोशिश करें कि आपको किस तरह के बीमा प्लान की आवश्यकता है?

आरएम विशाखा

एमडी व सीईओ, इंडिया फस्र्ट लाइफ इंश्योरेंस

Posted By: Babita Kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप