नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Life Insurance Corporation of India (LIC) एंडोमेंट से लेकर यूलिप (यूनिट लिंक्ड प्लान) तक कई बीमा सह निवेश योजनाएं प्रदान करता है। एलआईसी जीवन शांति पॉलिसी उनमें से एक है। इस जीवन बीमा पॉलिसी में, निवेशकों को आजीवन पेंशन के रूप में पैसा इकट्ठा करने लिए अवसर बनाने का विकल्प मिलता है। एलआईसी की आधिकारिक वेबसाइट - licindia.in पर उपलब्ध पॉलिसी विवरण के अनुसार, एक निवेशक इस एलआईसी योजना में एकमुश्त राशि का निवेश करके आजीवन आय बना सकता है।

एलआईसी जीवन शांति पॉलिसी योजना एक निवेशक को दो तरह की योजनाएं ऑफर करती है, इमीडिएट प्लान और डिफर्ड एनुइटी ऑप्शन। अपनी उम्र के अनुसार कोई भी निवेशक इन दोनों में से किसी एक योजना का चुनाव कर सकता है। यदि निवेशक एक रिटायर्ड व्यक्ति है या रिटायर होने वाला है, तो उस स्थिति में इमीडिएट प्लान की सलाह दी जाती है क्योंकि पॉलिसी खरीदने के अगले महीने से पेंशन प्रभावी हो जाएगी। हालांकि, डिफर्ड एनुइटी ऑप्शन के मामले में, निवेशक को 60 वर्ष की आयु में वार्षिकी खरीदने का विकल्प मिलेगा। उस अवधि तक, निवेशकों का पैसा किसी भी अन्य एलआईसी एंडोमेंट प्लान की तरह बढ़ेगा।

टैक्स और इनवेस्टमेंट एक्सपर्ट बलवंत जैन के अनुसार "किसी भी एलआईसी की बीमा सह निवेश योजना में, यूलिप के तहत किसी के पैसे में 6 फीसद वार्षिक वृद्धि की उम्मीद की जा सकती है। इस एलआईसी जीवन शांति पॉलिसी में भी, अगर निवेशक डिफर्ड एनुइटी ऑप्शन चुनता है तो किसी का पैसा सालाना 6 फीसद बढ़ सकता है।"

इस पॉलिसी में पेंशन को अधिकतम करने पर बलवंत जैन के अनुसार "आम तौर पर, आप एनुइटी पर 6 फीसद सालाना रिटर्न की उम्मीद कर सकते हैं। इसलिए, यदि आप इमीडिएट प्लान चुनते हैं, तो आपकी राशि तय हो जाती है और आपको अगले महीने से मासिक पेंशन मिलना शुरू हो जाती है। हालांकि, डिफर्ड एनुइटी ऑप्शन के मामले में, आपका पैसा समय बीतने के साथ हर साल लगभग 6 फीसद बढ़ता है। एनुइटी खरीदते समय, निवेशक के पास अधिक पैसा होगा जिससे अधिक पेंशन प्राप्त होगी।"

बलवंत जैन के अनुसार "एलआईसी जीवन शांति पॉलिसी उन निवेशकों के लिए उपयुक्त है जो कम जोखिम लेने की क्षमता रखते हैं, खासकर जो पहले से ही सेवानिवृत्त हो चुके हैं या सेवानिवृत्त होने वाले हैं।"

Edited By: Abhishek Poddar