नई दिल्‍ली, मनीश कुमार मिश्र। हम सभी जानते हैं कि Life Insurance यानी जीवन बीमा और Health Insurance की हमारे जीवन में कितनी अहमियत है। हालांकि, सिर्फ ये दोनों बीमा कवर ही जरूरी नहीं है। कई बार ऐसा भी होता है कि किसी दुर्घटना की वजह से इंसान काम करने लायक नहीं रह जाता। ऐसे में इलाज के लिए भले उसे हेल्‍थ इंश्‍योरेंस का लाभ मिल जाए लेकिन काम न करने की वजह से इनकम में आने वाली रुकावट के कारण आर्थिक परेशानियां बढ़ ही जाती हैं। Jagran Dialogues के हालिया एपिसोड में इसी विषय पर चर्चा की गई कि ऐसे कौन-कौन से राइडर्स या पॉलिसीज हैं जो संकट की ऐसी घड़ी में काम आ सकते हैं।

पूरी जानकारी के लिए देखें यह वीडियो

इन्फिना इंश्‍योरेंस ब्रोकिंग प्रा. लि. के डायरेक्‍टर एवं सीओओ आशीष झांब ने बताया कि टर्म इंश्‍योरेंस या कोई भी लाइफ इंश्‍योरेंस पॉलिसी लेते समय आप उसके साथ मिलने वाले विभिन्‍न राइडर्स का लाभ उठा सकते हैं। राइडर्स आपको एक्स्‍ट्रा बेनिफिट कम पैसे में उपलब्‍ध कराते हैं। इनका प्रीमियम अलग पॉलिसी लेने की तुलना में काफी कम होता है। उन्‍होंने कहा कि अगर आप इंश्‍योरेंस पॉलिसी लेने जा रहे हैं तो आपको Waiver of premium, Critical illness और Accidental death rider जरूर लेना चाहिए।

प्रीमियम वेवर राइडर बीमित व्‍यक्ति की मृत्‍यु या उनके डिसैबल होने पर भविष्‍य के प्रीमियम देने की चिंता को समाप्‍त करता है। वहीं, क्रिटिकल इलनेस राइडर के तहत गंभीर बीमारियों के डायग्‍नोज होने के एक निश्चित प्रतीक्षा अवधि के बाद पूरा सम एश्‍योर्ड बीमित व्‍यक्ति को मिल जाता है। इससे लाइफ इंश्‍योरेंस का कवर प्रभावित नहीं होता।

A&M Insurance Brokers के डायरेक्‍टर, सुमित वाधवा ने बताया कि हेल्‍थ इंश्‍योरेंस के साथ भी कई राइडर्स उपलब्‍ध हैं और अपनी सुविधानुसार इनका चयन किया जा सकता है। उन्‍होंने बताया कि अगर कोई व्‍यक्ति Health Insurance लेने जा रहा है तो उसे Room Rent Waiver, Maternity Cover, Hospital Cash benefit, Critical Illness cover और Personal Accident rider पर विचार करना चाहिए।

Edited By: Manish Mishra